सुपरसोनिक मिसाइल का सफल परीक्षण

ब्रह्मोस मिसाइल
Image caption इससे पहले भारत का यह परीक्षण विफल हो गया था

भारत ने रविवार को बंगाल की खाड़ी से सुपरसोनिक ब्रह्मोस मिसाइल का सफल परिक्षण किया है. इसके साथ ही भारत दुनिया का एकमात्र देश बन गया जिसके पास ख़ास किस्म की सुपरसोनिक मिसाइल है.

यह मिसाइल सीधी मारक क्षमता वाला यानी लंबवत तौर पर 290 किलोमीटर तक की मार करने की क्षमता रखता है.

लेकिन इसकी सबसे ख़ास बात यह बताई जा रही है कि इस मिसाइल को लक्ष्य तक पहुँचने से पहले नियंत्रित किया जा सकता है. इसमें लक्ष्य की बदलती स्थिति के अनुरूप दिशा बदलने जैसे निर्देश भी शामिल हैं.

ब्रहमोस एयरोस्पेस के अध्यक्ष शिवाथानु पिल्लै ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया, "यह लंबवत मार करने वाला मिसाइल आज (रविवार) सुबह स्थानीय समय के मुताबिक़ 1130 मिनट पर भारतीय नवसेना के बेड़े- आइएनएस रण्वीर से सफलता के साथ छोड़ा गया."

उन्होंने यह भी कहा कि इसने पूरी कुशलता और चालाकी के साथ अपने लक्ष्य को निशाना बनाने में सफलता प्राप्त की.

पहला और अकेला देश

शिवाथानु पिल्लै ने बताया कि इस सफल परिक्षण के बाद भारत दुनिया का एक मात्र ऐसा देश बन गया है जिसके पास घात लगाकर मार करने वाला सुपरसोनिक मिसाइल शामिल है.

भारत की राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल और रक्षामंत्री एके एंटनी ने भी इसके सफल लांच पर वैज्ञानिकों को मुबारकबाद दी है.

इससे पहले पिछले साल मार्च महीने में दूसरी बार सुपरसोनिक ब्रह्मोस क्रूज़ मिसाइल के ब्लॉक-2 संस्करण का पोखरण से सफल परीक्षण किया गया था.

संबंधित समाचार