'शोएब ने दिया तलाक़, ख़ुश हैं आयशा'

सानिया मिर्ज़ा और शोएब मलिक 15 अप्रैल को निकाह करने वाले हैं

आयशा सिद्दीक़ी की माँ फ़रीसा सिद्दीक़ी ने हैदराबाद में पत्रकार वार्ता में बताया है कि पाकिस्तानी क्रिकेटर शोएब मलिक ने औपचारिक तौर पर आयशा को तलाक़ दे दिया है और इसमें पैसे का लेन-देन नहीं हुआ है और न ही कोई और शर्त शामिल है.

बाद में पत्रकारों को उन्होंने बताया, "ये शायद पहली बार होगा कि कोई माँ अपनी बच्ची के तलाक़ पर ख़ुश होगी लेकिन हम ख़ुश हैं. मुझे सानिया से कोई शिकायत नहीं है.बहुत दिनों बाद आयशा हसी है."

फ़रीसा सिद्दीक़ी ने कहा कि इस फ़ैसले से उनकी बेटी आयशा ख़ुश है और राहत महसूस कर रही है.

पत्रकार वार्ता में आयशा की माँ, कांग्रेस नेता और दोनों परिवारों के दोस्त आबिद रसूल खान, वरिष्ठ मुस्लिम नेता इमरान क़ादरी और सानिया के एक रिश्तेदार मौजूद थे लेकिन शोएब की ओर से कोई भी उपस्थित नहीं था.

आयशा के परिवार ने आरोप लगाया था कि शोएब का निकाह आयशा से हो चुका है और सानिया मिर्ज़ा से शादी से पहले उन्हें आयशा से तलाक़ देना होगा. जबकि शोएब इस बात से साफ़ इंकार करते रहे हैं कि उनका निकाह़ आयशा से हो चुका है.

इस मामले में मध्यस्थता कर रहे आंध्रप्रदेश कांग्रेस के महासचिव रसूल खान ने बताया कि मसले के निपटारे के लिए दोनों परिवारों के बीच रात भर बातचीत चली और बुधवार सुबह सात-आठ बजे के आसपास काज़ी की मौजूदगी में शोएब ने आयशा को तलाक़ दिया.

उन्होंने बताया कि इस्लामिक का़नून के तहत तलाक़ दिया गया और तीन महीने के हिसाब से आयशा को पंद्रह हज़ार रुपए दिए जाएँगे और इसके अलावा पैसे का कोई लेन-देन नहीं हुआ.

वरिष्ठ मुस्लिम इमरान क़ादरी ने पूरी जानकारी देते हुए कहा, "इस मामले ने बहुत ही बड़ा रूप ले लिया था. समुदाय की ओर से दोनों परिवारों पर दबाव था कि मसले को सुलझाया जाए. कई दिनों से पर्दे के पीछे के बातचीत चल रही थी. मंगलवार पूरी रात बात हुई और ऐसे फ़ैसले पर पहुँचा गया जो दोनों परिवारों के लिए सम्मानजनक निर्णय माना जा सकता है."

कांग्रेस नेता रसूल खान ने कहा कि शोएब मलिक के ख़िलाफ़ जो एफ़आईआर दायर किया गया था उसे वापस ले लिया गया है. जब उनसे पूछा गया कि ऐसा क्या हुआ कि शोएब तलाक़ देने को राज़ी हो गए तो उन्होंने कहा कि समुदाय के नेताओं के समझाने और दबाव के बाद ऐसा हो पाया क्योंकि इस मसले का असर पूरे देश पर पड़ रहा था.

जब उनसे पूछा गया कि इस तलाक़ का मतलब तो हुआ कि शोएब का निकाह आयशा से हुआ था तो कांग्रेस नेता ने कहा कि वे इन सब सवालों में जाना नहीं चाहते क्योंकि दोनों परिवारों के बीच समझौता हो चुका है. पहले के कार्यक्रम के मुताबिक सानिया और शोएब की शादी 15 अप्रैल को होनी है.

क्या था विवाद

29 मार्च को ये ख़बर सार्वजनिक की गई थी कि भारत की टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्ज़ा और पाकिस्तान के क्रिकेट खिलाड़ी शोएब मलिक शादी करने जा रहे हैं.

लेकिन इसके कुछ दिन बाद ही हैदराबाद के सिद्दीक़ी परिवार ने दावा किया कि शोएब की शादी आयशा सिद्दीक़ी से हो चुकी है और सानिया से निकाह़ से पहले उन्हें आयशा को तलाक़ देना होगा.

इसके बाद से मीडिया में आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरु हो गया और रोज़ एक नई कहानी सामने आती गई.तीन अप्रैल को शोएब अचानक हैदराबाद पहुँच गए और बाद में पत्रकार वार्ता कर इस बात से साफ़ इंकार कर दिया कि उनकी शादी आयशा से हुई थी. और सानिया ने भी शोएब का पूरा-पूरा साथ दिया था कि वे सच्चाई जानती हैं.

लेकिन अगले ही दिन चार अप्रैल को आयशा के परिवार ने शोएब के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज करवा दी और शोएब से पुलिस ने पूछताछ भी की और उनका पासपोर्ट ले लिया गया.

मामले को लेकर भारत और पाकिस्तान में बहस चलती रही कि आख़िर कौन सच्चा है और कौन झूठा. आख़िककर बुधवार यानी सात अप्रैल को इस पूरे मामले का अंत हुआ जब शोएब ने आयशा को तलाक़ दे दिया. लेकिन लोगों के मन में कई सवाल अब भी बरकरार हैं कि आख़िर पहले शोएब ने निकाह से इंकार क्यों किया और आयशा कौन है?

संबंधित समाचार