नक्सली बड़ी चुनौती, कार्रवाई होगी

मनमोहन सिंह
Image caption प्रधानमंत्री पहले भी कह चुके हैं कि नक्सलवाद देश के सामने सबसे बड़ी चुनौती है.

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने माना है कि पिछड़े इलाक़ों में नक्सलवाद बढ़ता है लेकिन साथ ही उन्होंने साफ़ किया कि सरकार की संप्रभुता को चुनौती देने वालों के ख़िलाफ़ जल्दी ही कार्रवाई की जाएगी.

राजधानी दिल्ली में प्रशासनिक सेवा दिवस को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों को नए उपाय करने चाहिए ताकि विकास से जुड़े सरकार के उपाय बेहतर तरीके से लागू हो सकें और लोगों तक पहुंचे.

प्रधानमंत्री ने एक बार फिर कहा कि देश के समक्ष नक्सलवाद एक बड़ी आंतरिक सुरक्षा चुनौती है. उनका कहना था कि हाल की घटनाओं ने दर्शाया है कि इस समस्या को जड़ से ख़त्म करने के लिए तत्काल आवश्यक कार्रवाई करने की ज़रुरत है.

मनमोहन सिंह ने कहा कि जिन लोगों ने सरकार की संप्रभुता और हमारे लोकतांत्रिक तानेबाने को चुनौती दी है उनके साथ कोई रियायत नहीं की जाएगी.

उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों नक्सलियों ने दंतेवाड़ा में बड़ा हमला किया था और 76 जवानों को मार डाला था.

नक्सली समस्या पिछले कुछ महीनों में अत्यंत गंभीर हो चुकी है और देश के कम से कम छह राज्य इससे प्रभावित हैं.

संबंधित समाचार