श्रीनगर में पथराव, एक युवक की मौत

प्रदर्शन (फ़ाइल फ़ोटो)

भारत प्रशासित जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा ज़िले में सेना के साथ मुठभेड़ में तीन चरमपंथी मारे गए हैं जबकि राजधानी श्रीनगर में हुई पथराव की एक घटना में एक युवक की मृत्यु हो गई है.

शुक्रवार को अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी ने संयुक्त राष्ट्र के सैन्य पर्यवेक्षकों के दफ़्तर तक शांतिपू्र्ण मार्च का आह्वान किया है.

लेकिन इससे पहले शहर के बटमालू इलाक़े में भारत विरोधी प्रदर्शन के दौरान हुए पथराव में एक युवक शफ़ीक़ अहमद शेख़ की मौत हो गई है.

शेख़ के सिर पर पत्थर लगा और उसे अस्पताल ले जाया गया लेकिन उसकी मृत्यु हो गई.

फ़िलहाल ये स्पष्ट नहीं है कि पथराव कर रही हिंसक भीड़ वाहनों को निशाना बना रही थी, ट्रैफ़िक रोकना चाहती थी या फिर पुलिस को निशाना बना रही थी.

उधर गिलानी घर पर नज़रबंद हैं और धारा 144 के लागू होने का कारण उनकी मार्च की मंशा के पूरे होने का आसार नहीं हैं.

राज्य के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने इस युवक की मौत के लिए सैयद अली शाह गिलानी के आह्वान को ज़िम्मेदार ठहराया है.

मुठभेड़ में तीन मारे गए

दूसरी ओर शुक्रवार तड़के कुपवाड़ा के मत्सिल क्षेत्र में चरमपंथियों और भारतीय सेना के बीच मुठभेड़ हुई है.

सेना के प्रवक्ता लेफ़्टिनेंट कर्नल जेएस बराड़ ने कहा, "तीन चरमपंथी सीमा से जम्मू-कश्मीर में घुसपैठ की कोशिश कर रहे थे. जब उन्हें चुनौती दी गई और रोका गया तो फ़ायरिंग शुरु हुई. जवाबी कार्रवाई में तीनों चरमपंथी मारे गए."

उनके अनुसार पूरे इलाक़े में जाँच अभियान जारी है.

ग़ौरतलब है कि ये घटना भारत और पाकिस्तान के प्रधानमंत्रियों की बैठक के ठीक एक दिन बाद हुई है जिसमें चरमपंथ पर विशेष तौर पर विचार-विमर्श हुआ था.

संबंधित समाचार