हैदराबाद में 'चरमपंथी' गिरफ़्तार

हैदराबाद का चारमीनार
Image caption हैदराबाद में चारमीनार के पास भी कुछ वर्ष पहले विस्फोट हुए थे.

हैदराबाद पुलिस ने एक संदिग्ध चरमपंथी ज़िया उल हक को गिरफ़्तार कर लिया है. हैदराबाद के पुलिस आयुक्त अब्दुल कयूम खान ने कहा कि ज़िया का संबंध लश्कर ए तैबा से है.

ज़िया के पास से पुलिस को एक बंदूक और दो देसी बम मिले हैं.

खान ने कहा कि टैक्सी ड्राईवर का काम करने वाला ज़िया हैदराबाद में आतंकी हमले की योजना बना रहा था. हैदराबाद के एक सिनेमा घर में 2006 में विस्फोट के संबंध में भी तलाश थी.

खान के अनुसार जिस समय ज़िया जूनियर कॉलेज में पढ़ रहा था वो सऊदी अरब चला गया था जहाँ उसका संपर्क लेट से हुआ और लेट ने उसे प्रशिक्षण दिया.

ज़िया का संबंध आदिलाबाद जिले के खानपुर से है.

पुलिस ने उसे एक ऐसे समय पर गिरफ्तार किया है जब की इंटेलीजेंस ब्यूरो ने हैदराबाद में आतंकवादी हमले की चेतावनी दे रखी है और गत एक सप्ताह से पुलिस कड़ी चौकसी बरत रही है.

पुलिस नगर में लगातार शॉपिंग माल, सिनेमा हॉल और दूसरे अन्य सार्वजनिक स्थानों, रेलवे और बस अड्डों की तलाशी ले रहे हैं और हर आने जाने वाले व्यक्ति पर नज़र रख रहे हैं.

इंटलीजेंस ब्यूरो ने यह चेतावनी मोबाइल फ़ोन पर होने वाली एक बातचीत सुनने के बाद दी थी जिस में सऊदी अरब से फ़ोन करनेवाले एक व्यक्ति ने हैदराबाद के एक व्यक्ति को निर्देश दिया था की वो अपनी कार्रवाई जल्द से जल्द करे और हैदराबाद के व्यक्ति ने कहा था की वो मौके की तलाश में है.

खान ने कहा कि ज़िया से पूछताछ पूरी होने के बाद और भी कई बातों का खुलासा होगा. उन्होंने कहा कि पुलिस को कुछ और लोगों की तलाश है.

संबंधित समाचार