डीएमके में शामिल हुईं खुशबू

खुशबू
Image caption खुशबू ने पहले कांग्रेस में शामिल होने की मंशा ज़ाहिर की थी

दक्षिण भारतीय फ़िल्मों की लोकप्रिय अभिनेत्री खुशबू तमिलनाडु में सत्तारूढ़ द्रविड़ मुनेत्र कषगम (डीएमके) में शामिल हो गई हैं.

उन्होंने डीएमके प्रमुख करुणानिधि के समक्ष पार्टी की प्राथमिक सदस्या स्वीकार की जहाँ राज्य का लगभग पूरा मंत्रिमंडल मौजूद था.

गत 28 अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट ने खुशबू के ख़िलाफ़ दर्ज सभी 22 मामलों को ख़ारिज कर दिया था.

एक पत्रिका में दिए गए साक्षात्कार में विवाह पूर्व यौन संबंध को जायज़ ठहराए जाने के बाद ये मामले दर्ज किए गए थे.

दबाव?

सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले के बाद ही खुशबू ने राजनीति में आने की इच्छा ज़ाहिर की थी.

हालांकि उन्होंनें ख़ुद को इंदिरा गांधी, राजीव गांधी और सोनिया गांधी का प्रशंसक बताते हुए कहा था कि वे अपनी राजनीतिक पारी कांग्रेस से शुरु करना चाहेंगीं. उन्होंने अपने परिवार को भी कांग्रेसी बताया था.

लेकिन पिछले दिनों डीएमके के नेता करूणानिधि की बेटी और राज्यसभा की सदस्य कोनीमोझी की खुशबू से हुई मुलाक़ात के बाद शुक्रवार को वे डीएमके में शामिल हो गईं.

इसके बाद राजनीतिक चर्चा चलती रही कि सत्तारूढ़ दल ने खुशबू पर दबाव डालकर उन्हें डीएमके में शामिल करवाया है.

इस पर करुणानिधि को बयान देकर सफ़ाई देनी पड़ी कि खुशबू पर कोई दबाव नहीं डाला गया और डीएमके इस तरह की राजनीति में भरोसा नहीं करती.

खुशबू डीएमके की प्रतिद्वंद्वी पार्टी जयललिता की एआईडीएमके के टीवी चैनल पर एक शो होस्ट करती हैं. यह तय माना जा रहा है कि डीएमके में शामिल होने के बाद उन्हें वह शो छोड़ना होगा.

खुशबू ने कहा है कि अब पार्टी को तय करना है कि उन्हें क्या काम दिया जाए.

संबंधित समाचार