दुर्घटना रनवे से उतरने से हुई: एयर इंडिया

एयर इंडिया का कहना है कि मैंगलोर में विमान दुर्घटना विमान के रनवे से उतरने के कारण हुई.

एयर इंडिया के निदेशक (कार्मिक) अनूप श्रीवास्तव ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि दुर्घटनाग्रस्त विमान में से आठ यात्रियों को बचा लिया गया है.

उन्होंने जानकारी दी कि दुर्घटनाग्रस्त विमान में 160 यात्री और चालक दल के छह सदस्य थे.

उन्होंने बताया कि मंगलूर हवाईअड्डा बंद कर दिया गया है और बचाव दल के सदस्य कालीकट के रास्ते से वहाँ पहुँच रहे हैं.

नागरिक उड्डयन महानिदेशक इस घटना की जाँच करेंगे.

पायलट का संदेश नहीं

एयरपोर्ट ऑथारिटी के प्रमुख वीपी अग्रवाल ने दिल्ली में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि पायलट की ओर से सहायता के लिए कोई संदेश नहीं मिला.

उनका कहना था कि मैंगलोर हवाई अड्डे पर दिखाई देने में कोई दिक्कत नहीं थी और ये आवश्यक दृष्टता से अधिक थी.

उन्होंने इस बात से साफ़ इनकार किया कि इस विमान अड्डे के निर्माण में कोई कमी नहीं है और 2006 में चालू होने के पहले हवाई अड्डे की सभी आवश्यक जाँच पड़ताल की गई थी.

उल्लेखनीय है कि मैंगलोर के जिस हवाई अड्डे पर विमान को उतरना था, वह बेहद छोटा और पहाड़ी की चोटी पर बना हवाई अड्डा है.

अधिकारियों का कहना है कि विमान रनवे पर एकदम ठीक जगह उतरा लेकिन रनवे पर तेज़ी से आगे बढ़ता गया और पहाड़ी से नीचे गिर गया.

इस हवाई अड्डे से 2006 में अंतरराष्ट्रीय उड़ानें प्रारंभ हुई हैं.

बताया जा रहा है कि हादसे की वजह से विमान में आग लग गई. साथ ही हादसे के बाद विमान का मलबा काफ़ी दूर तक बिखर गया.

संबंधित समाचार