प्रफ़ुल्ल पटेल ने हादसे की नैतिक ज़िम्मेदारी ली

प्रफ़ुल्ल पटेल
Image caption प्रफ़ुल्ल पटेल ने प्रधानमंत्री से मुलाक़ात की

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री प्रफ़ुल्ल पटेल ने मैंगलोर में हुए विमान हादसे की नैतिक ज़िम्मेदारी ली है.

शनिवार तड़के कर्नाटक के मैंगलोर हवाई अड्डे पर दुबई से आ रहा एयर इंडिया एक्सप्रेस का विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था, जिसमें 158 लोग मारे गए हैं.

प्रफ़ुल्ल पटेल ने मैंगलोर जाकर घटनास्थल का दौरा किया. शाम को वे दिल्ली लौटे और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से मुलाक़ात करके उन्हें स्थिति से अवगत कराया.

बाद में पत्रकारों से बातचीत में प्रफ़ुल्ल पटेल ने घटना की नैतिक ज़िम्मेदारी ली और कहा, "मैं मैंगलोर विमान हादसे से काफ़ी दुखी हूँ. मुझे इतनी बड़ी संख्या में लोगों के मारे जाने का काफ़ी दुख है."

हालाँकि इस्तीफ़े की पेशकश के बारे में पत्रकारों के सवालों को उन्होंने टाल दिया.

उन्होंने स्पष्ट किया कि चार साल पुराना मैंगलोर रनवे पूरी तरह सुरक्षित है.

समस्या

प्रफ़ुल्ल पटेल ने कहा कि लैंडिंग के समय हवा बहुत तेज़ नहीं थी और न ही बारिश हुई थी. इन परिस्थितियों में सामान्य लैंडिंग की उम्मीद की जाती है.

उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है विमान ने अपने नियत जगह से आगे लैंड किया और रनवे से भटककर खाई में गिर गया.

प्रफ़ुल्ल पटेल ने कहा कि पायलट और सह पायलट काफ़ी अनुभवी थे. विमान भी सिर्फ़ ढाई साल पुराना था. अभी तक इस विमान में किसी तरह की तकनीकी समस्या नहीं सामने आई थी.

उन्होंने बताया कि पायलट ने एयर ट्रैफ़िक कंट्रोलर को किसी तरह की तकनीकी ख़ामी के बारे में जानकारी नहीं दी थी. इसलिए जब तक जाँच पूरी नहीं हो जाती, ये कहना काफ़ी मुश्किल है कि ऐसा कैसे हो गया.

संबंधित समाचार