प्रधानमंत्री पत्रकारों से रूबरू

बीबीसी हिंदी की विशेष लाइव कमेंटरी. बीबीसी हिंदी की विशेष लाइव कमेंटरी.
यह अपने आप अपडेट होता रहेगा.

ताज़ा पेज देखें

इसके साथ ही प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की पत्रकारवार्ता संपन्न हुई.

1148 IST: प्रधानमंत्री- मेरे जिम्मे एक काम है, विरासत के सवाल पर इतिहासकार अपनी राय व्यक्त करेंगे.

1146 IST: प्रधानमंत्री- पाकिस्तान के साथ बहुत से मसले हैं और बात चल रही है.

1145 IST: प्रधानमंत्री- ये ठीक नहीं है कि मंत्री सार्वजनिक रूप से विचार रखें, उन्हें कैबिनेट में विचार रखने चाहिए.

1144 IST: प्रधानमंत्री- मंत्री स्वतंत्र रूप से अपनी बात रखते हैं.

1142 IST: प्रधानमंत्री- हेडली पर अमरीकी प्रशासन ने आश्वासन दिया है कि हम उससे बात कर सकेंगे.

1140 IST: प्रधानमंत्री- मायावती के साथ कोई डील नहीं हुई.

1139 IST: प्रधानमंत्री- मैं केवल उस एजेंडे पर काम कर रहा हूँ जिसमें देश का भला हो.

1137 IST: प्रधानमंत्री- इसमें कोई सच्चाई नहीं है कि मुझमें और कांग्रेस अध्यक्ष में कोई मतभेद हैं.

1135 IST: प्रधानमंत्री- मुझे एक ज़िम्मेदारी सौंपी गई है, जब तक पूरी नहीं हो जाती, तब तक मैं रिटायर नहीं हो सकता.

1133 IST: प्रधानमंत्री- ये हमारी ज़िम्मेदारी है कि सभी पड़ोसियों से रिश्ते सामान्य रहें, सफल होंगे या नहीं ये भविष्य पर निर्भर होगा.

1132 IST: प्रधानमंत्री-सभी वर्गों को सरकारी योजनाओं का लाभ पहुँचे.

1130 IST: प्रधानमंत्री- ग़रीबी से निजात हमारी प्राथमिकता है.

1128 IST: प्रधानमंत्री- जब भी कैबिनेट में विस्तार होगा, तब आपका पता चल जाएगा.

1127 IST: प्रधानमंत्री-सीबीआई का दुरुपयोग सरकार ने कभी नहीं किया.

1125 IST: प्रधानमंत्री- हमारी सरकार की पूरी कोशिश है कि योजनाओं का पैसा लोगों तक पहुँचे.

1123 IST: मेरे लिए मंत्रियों के बारे में सार्वजनिक रूप से चर्चा करना उचित नहीं होगा.

1120 IST: सोनिया गांधी से हर सप्ताह चर्चा होती है, ये कहना सही नहीं है कि सरकार और कांग्रेस पार्टी में समन्वय नहीं है.

1118 IST: पानी आगामी वर्षों में अहम मुद्दा होगा.

1116 IST: मनमोहन सिंह- हम बेहतर कर सकते थे, पर मैं सरकार के कामकाज से संतुष्ट हूँ.

1113 IST: मनमोहन सिंह- मैं सोचता हूँ कि युवाओं का बागडोर संभालनी चाहिए, लेकिन ये कांग्रेस पार्टी के ऊपर है.

1112 IST: मनमोहन सिंह- राहुल गांधी से कई बार कैबिनेट में शामिल होने को कहा है लेकिन वो इसे टाल गए.

1110 IST: मनमोहन सिंह- आर्थिक सुधारों के लिए नक्सलवाद पर नियंत्रण करना होगा.

1108 IST: मनमोहन सिंह-नए राज्यों के गठन पर कोई टिप्पणी नहीं कर सकता.

1107 IST: मनमोहन सिंह- हमारी सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी.

1106 IST: मनमोहन सिंह-किसी भी स्तर पर भ्रष्टाचार पर हम कार्रवाई करेंगे.

1105 IST: मनमोहन सिंह- स्पेक्ट्रम के मामले में दूरसंचार मंत्री राजा ने बताया कि उन्होंने नीतियों का पालन किया.

1101 IST: मनमोहन सिंह-मैं प्रधानमंत्री के रूप में दंतेवाड़ा और मैंगलोर हादसे के लिए नैतिक रूप से ज़िम्मेदार.

1100 IST: मनमोहन सिंह- सरकार मानवाधिकारों के हनन को स्वीकार नहीं करेगी.

1059 IST: मनमोहन सिंह- भारत-पाकिस्तान के बीच विश्वास की कमी.

1057 IST: मनमोहन सिंह-सरकार के बारे में जनता फ़ैसला करेगी.

1056 IST: मनमोहन सिंह-नक्सलवाद पर राज्य सरकारें और केंद्र मिलकर काम करेंगी.

1055 IST: मनमोहन सिंह- कारोबार के लिए हमें माहौल तैयार करना है.

1053 IST: मनमोहन सिंह- लेकिन एक ही शर्त है कि पाकिस्तान की जमीन का इस्तेमाल आतंकवाद के लिए न किया जाए.

1052 IST: मनमोहन सिंह-हम पाकिस्तान के साथ सभी मुद्दों पर बात करना चाहते हैं.

1050 IST: मनमोहन सिंह-आतंकवाद का कोई धर्म नहीं होता, ये सबसे बड़ा ख़तरा है.

1049 IST: मनमोहन सिंह-राज्य सरकारों के साथ मिलकर कीमतों पर कड़ी निगरानी रखी जाएगी.

1048 IST: मनमोहन सिंह ने बयान में कहा- पड़ोसी देशों से संबंधों में सुधार अहम है.

1046 IST: मनमोहन सिंह ने लिखित बयान में कहा-हम आतंकवाद से निपटने के लिए पूरी तरह कटिबद्ध हैं.

1045 IST: मनमोहन सिंह- नक्सलवाद सबसे बड़ा आंतरिक ख़तरा है.

1043 IST: मनमोहन सिंह-सभी दल भारत के परमाणु कार्यक्रम का समर्थन करेंगे.

1042 IST: मनमोहन सिंह- भारत और पाकिस्तान के बीच विश्वास की कमी है.

1040 IST: मनमोहन सिंह- दिसंबर तक महंगाई की दर 5-6 फ़ीसदी पर ले आएँगे.

1038 IST: मनमोहन सिंह-महंगाई से जनता से तकलीफ़ होती है, भारत ने मंदी की चुनौती की सामना किया.

1035 IST: प्रधानमंत्री ने कहा अर्थव्यवस्था अच्छी हाल में है.

1031 IST: सबसे पहले मैंगलोर में विमान दुर्घटना में मारे गए लोगों की स्मृति में एक मिनट का मौन रखा गया.

1030 IST: वो अर्से बाद मीडिया से रूबरू हो रहे हैं.

1028 IST: मनमोहन सिंह यूपीए-2 सरकार के एक साल पूरा होने के बाद रूबरू हैं.

1025 IST: आप कुछ ही देर में पढ़ पाएँगे प्रधानमंत्री के संवाददाता सम्मेलन का लाइव टेक्स्ट.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.