मोदी के साथ विज्ञापन पर नीतीश नाराज़

फ़ाइल फ़ोटो
Image caption नीतिश कुमार ने नरेंद्र मोदी से दूरी ही रखी है

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अख़बारों में छपे नरेंद्र मोदी से जुड़े विज्ञापन पर अपनी नाराज़गी जताई है.

इस विज्ञापन में दिखाया गया है कि गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी और नीतीश कुमार हाथ पकड़े खड़े हैं और इसमें लिखा गया है कि कैसे बाढ़ जैसी आपदा के दौरान गुजरात सरकार ने बिहार की मदद की.

ये विज्ञापन ऐसे समय प्रकाशित किया गया है जब पटना में भारतीय जनता पार्टी की कार्यकारिणी की बैठक चल रही है.

नीतीश कुमार विज्ञापन से काफ़ी नाखुश हैं. अपनी नाराज़गी ज़ाहिर करते हुए उन्होंने कहा, “आपदा के समय दी गई मदद को इस तरह जताना भारतीय संस्कृति और नैतिकता के ख़िलाफ़ हैं.”

उन्होंने कहा कि ये विज्ञापन बिना उनकी अनुमति के छापा गया है और विज्ञापन छापने वालों के ख़िलाफ़ क़ानूनी कार्रवाई के बारे में सोचा जाएगा.

नुकसान का डर

दरअसल इस साल बिहार में विधानसभा चुनाव होने हैं. नीतीश कुमार खेमे को लगता है कि अगर इस तरह नरेंद्र मोदी को महिमामंडित किया गया तो बिहार में अल्पसंख्यक समुदाय उनसे दूर जा सकता है जिससे जनता दल यूनाइटेड को राजनीतिक नुकसान उठाना पड़ सकता है.

बताया जा रहा है कि नाराज़ मुख्यमंत्री ने भाजपा नेताओं के साथ डिनर का कार्यक्रम रद्द कर दिया है.

बिहार में भाजपा और जनता दल यूनाइटेड की सरकार है.

हालांकि नीतीश कुमार ने ये भी कहा है कि भाजपा के साथ संबंधों पर इस घटना का कोई असर नहीं पड़ेगा. उन्होंने कहा कि भाजपा से उन्हें कोई शिकायत नहीं है और बिहार में गठबंधन सरकार अच्छे से चल रही है.