नाव दुर्घटना: 62 लोगों के शव मिले

नाव दर्घटना

उत्तर प्रदेश के बलिया ज़िले में हुई नाव दुर्घटना में मारे गए 62 लोगों के शव मिल गए हैं. इनमें 20 पुरुष, 23 महिलाएँ और 19 बच्चे हैं.

ये नाव दुर्घटना सोमवार को हुई जब सुबह ग्राम दुबहड़, नसीराबाद एवं हरिहरपुर के चार परिवारों के लोग मुंडन संस्कार के लिए नाव पर सवार होकर ग्राम ओझबलिया दुबहड़ के लिए जा रहे थे.

स्थानीय रीति रिवाज़ के अनुसार नाव पर सवार लोग गंगा जी कि धारा को एक मूंज की रस्सी से इस पार से उस पार नाप रहे थे.

वापसी में अचानक नाव पलट गई. नाव पलटते ही कोहराम मच गया. जो लोग तैरना जानते थे, वे तो किसी तरह बच कर वापस आ गए.

मल्लाह की लापरवाही

एक मृतक के परिवार ने नौका खेने वाले मल्लाह हरिवंश के ख़िलाफ़ लापरवाही बरतने का मामला दर्ज कराया है.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ब्रजलाल का कहना है कि जब नौका डूबने लगी तो मल्लाह उसमें से कूद कर भाग निकला.

पुलिस उसे तलाश कर रही है.

दुर्घटना की सूचना मिलने के बाद स्थानीय पुलिस वहाँ पहुंची और गोताखोर आए.

पुलिस मुख्यालय लखनऊ ने राहत और बचाव में मदद के लिए जनपद मऊ के दोहरीघाट से पीएसी के जवान भेजे थे. मगर तब तक काफी देर हो गई थी.

राज्य की मुख्यमंत्री मायावती ने मृतकों के आश्रितों को एक-एक लाख रुपये की सहायता देने का ऐलान किया है.

पुलिस अधिकारी बीएन तिवारी ने कहा है कि दुर्घटनाग्रस्त नाव पुरानी थी और ज़रूरत से ज़्यादा लोग उसमें बैठे हुए थे.

संबंधित समाचार