बिहार में बंद का व्यापक असर

एक प्रदर्शनकारी

महंगाई और राज्य सरकार की विफलताओं के ख़िलाफ़ राष्ट्रीय जनता दल और लोकजनशक्ति पार्टी के बंद का बिहार में ख़ासा असर दिख रहा है.

प्रदर्शनकारी जगह-जगह ट्रेनों को रोककर धरना दे रहे हैं जिससे रेल सेवाएँ बुरी तरह प्रभावित हुई हैं.

राष्ट्रीय और राजकीय राजमार्गों पर भी प्रदर्शनकारी यातायात रोककर प्रदर्शन कर रहे हैं.

महंगाई के ख़िलाफ़ पिछले हफ़्ते हुए विपक्ष के बंद के बाद इसी मुद्दे पर राज्य में यह बंद आयोजित किया गया है लेकिन इस बार महंगाई के लिए केंद्र के अलावा राज्य सरकार को भी दोषी ठहराया जा रहा है.

इसके अलावा राज्य में बिजली के संकट, घूसखोरी और भ्रष्टाचार को भी मुद्दा बनाया गया है.

राज्य सरकार ने सुरक्षा के व्यापक इंतज़ाम किए हैं.

रेल सेवाएँ प्रभावित

सुबह से ही प्रदर्शनकारी पटना, हाजीपुर, जहानाबाद, भागलपुर, बक्सर, सहरसा और मुज़फ़्फ़रपुर में ट्रेनों को रोककर उसके सामने धरना प्रदर्शन कर रहे हैं.

इसकी वजह से प्रदेश में जगह-जगह ट्रेनें रुकी हुई हैं.

लंबी और कम दूरी की कई ट्रेनें इससे प्रभावित हुई हैं.

सड़कों पर चक्काजाम किए जाने से सड़क यातायात भी बुरी तरह से प्रभावित हुआ है.

प्रदर्शनकारी सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह के अलावा राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ख़िलाफ़ नारे लगा रहे हैं.

लालू प्रसाद यादव की राष्ट्रीय जनता पार्टी और रामविलास पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी ने राज्य सरकार पर आरोप लगाया है कि वह जमाखोरों और मुनाफ़ाखोरों को संरक्षण दे रही है.

उनका आरोप है कि केंद्र सरकार की सरकार महंगाई के लिए जितनी ज़िम्मेदार है उससे कहीं अधिक राज्य की सरकार है.

इन आरोपों के पीछे दोनों ही दलों के निशाने पर राज्य सरकार में शामिल भारतीय जनता पार्टी है.

छात्र आगे

शनिवार के इस बंद में राज्य भर में छात्रों की अहम भूमिका दिख रही है.

चूंकि राज्य के विश्वविद्यालयों और कॉलेजों के कर्मचारी वेतन वृद्धि की माँग को लेकर हड़ताल पर हैं और कॉलेज के शिक्षक भी उनके साथ आ गए हैं, इस समय कॉलेजों में नए प्रवेश का काम रुका हुआ है.

इसकी वजह से नाराज़ छात्र भी इस बंद में बढ़चढ़ कर हिस्सा लेते दिख रहे हैं.

प्रदर्शनकारियों में छात्रों की बड़ी संख्या की वजह से बंद प्रभावी दिखने लगा है.

निजी बस ऑपरेटरों ने एहतिहात के तौर पर अपनी सेवाएँ पहले ही स्थगित कर दी थीं.

पानी, बिजली और अस्पतालों को बंद से मुक्त रखा गया है.

संबंधित समाचार