बारामूला में पुलिस की गोली से एक की मौत

कश्मीर में पत्थर मारते प्रदर्शनकारी
Image caption पिछले तीन हफ्तों में अब तक 17 लोगों की मौत हो चुकी है

श्रीनगर के बारामूला कस्बे में पुलिस फायरिंग में एक व्यक्ति की मौत हो गई और कम से कम 12 लोग घायल हो गए.

पुलिस की गोली से मारे जाने वाले फैयाज़ अहमद खांडे की उम्र लगभग 25 साल थी.

सोमवार को प्रदर्शनकारियों की उग्र भीड़ ज़िला आयुक्त के कार्यालय के सामने सरकार विरोधी नारे लगाकर प्रदर्शन कर रही थी जब उन्हें काबू में करने के लिए पुलिस ने गोलियां चलाईं और इस युवक की मौत हो गई.

प्रदर्शन की वजह

Image caption घाटी में सिर्फ एक दिन छोड़कर लगातार कर्फ्यू है

जून के दूसरे हफ़्ते से घाटी का माहौल गंभीर बना हुआ है. शुरुआत एक प्रदर्शन से हुई थी लेकिन अब तक 17 लोगों की जान जा चुकी है. इसी कड़ी में शनिवार को प्रदर्शन कर रहे युवाओं और पुलिस के बीच पथराव हुआ था जिसमें 12 साल के फैज़ान अहमद की नदी में डूबने से मौत हो गई थी.

स्थानीय लोगों का आरोप है कि फैज़ान की मौत पुलिस के हाथों हुई है. लोगों का कहना है कि प्रदर्शन कर रहे फैज़ान को पुलिस ने पकड़कर ख़ूब मारा और पीटा और उसके बाद उसे नदी में फेंक दिया.

हालांकि फैज़ान की मौत की बात से पहले पुलिस और सैन्य अधिकारियों ने इंकार किया था. लेकिन दो दिन बाद सोमवार को सेना और नौसेना के जवानों ने मिलकर फैज़ान के शव की तलाश शुरु कर दी थी. सोमवार शाम को फैज़ान का शव निकाल लिया गया.

पिछले तीन हफ़्ते से चल रहे इस विरोध प्रदर्शन में कश्मीर घाटी में सिर्फ़ एक दिन छोड़कर लगातार कर्फ़्यू लगा हुआ है. वहां जनजीवन पूरी तरह से ठप्प है और लोगों को अपनी ज़रूरतों को पूरा करने में बहुत मुश्किल हो रही है.

संबंधित समाचार