कश्मीर:एक हफ़्ते में 28 लोगों की मौत

भारत प्रशासित कश्मीर में बुधवार को एक और व्यक्ति की मौत हो गई. पिछले शुक्रवार को मोहम्मद इक़बाल नाम के लड़के को गोली लगी थी लेकिन बुधवार को उसने दम तोड़ दिया.

पिछले एक हफ़्ते के दौरान ही 28 लोगों की मौत हो चुकी है. दो महीनों से कश्मीर में हिंसा का दौर लगातार जारी है. करीब 10 दिन की शांति के बाद पिछले कुछ दिनों से फिर से हिंसक प्रदर्शन हो रहे हैं.

गृह मंत्री पी चिदंबरम ने भी बुधवार को संसद में कश्मीर मुद्दे पर बयान दिया.

चिदंबरम ने लोकसभा में कहा, "हमें अफ़सोस है कि हिंसा के इस चक्र में इतने लोगों की जान गई है. मैं जम्मू-कश्मीर के लोगों से अपील करता हूँ कि वे इस हिंसा के चक्र को ख़त्म करें. मैं माता-पिता से अपील करूँगा कि अपने बच्चों की सुरक्षा के लिए कृप्या उन्हें इन प्रदर्शनों में शामिल न होने दें."

उनका कहना था कश्मीर में सशस्त्र लोग भी प्रदर्शनकारियों की भीड़ में शामिल हुए थे और सुरक्षाकर्मियों पर गोली चलाई गई थी.

गृह मंत्री ने कहा, "जून-जुलाई में सुरक्षाकर्मियों पर पथराव की 842 घटनाएँ हुई हैं जिनमें एक हज़ार से अधिक सुरक्षाकर्मी घायल हुए हैं. ग्यारह जून से लेकर अब तक प्रदर्शनों के दौरान 39 नागरिकों की मृत्यु हुई है.

चिदंबरम ने प्रदर्शनकारियों से शांति बनाए रखने की अपील की और राज्य सरकार की नीतियों और प्रयासों का अनुमोदन किया.

गृह मंत्री ने बताया कि उन्होंने पिछले साल कश्मीर में कुछ अहम लोगों के साथ बातचीत शुरु की थी लेकिन ये बातचीत एक बड़े पृथकतावादी नेता पर हमले के बाद बंद हो गई थी जो बातचीत करना चाहते थे.

इस बीच प्रमुख पृथकतावादी नेता सैयद अली शाह गिलानी ने कश्मीर युवाओं से अपील की है कि वो भारत विरोधी प्रदर्शनों के दौरान पथराव या अन्य तरह की हिंसा में शामिल ना हों.

संबंधित समाचार