शरद के हेलीकॉप्टर की इमरजेंसी लैंडिंग

शरद यादव
Image caption शरद यादव मधेपुरा में आयोजित एक समारोह में भाग लेने जा रहे थे.

जनता दल यूनाइटेड के अध्यक्ष और लोकसभा सांसद शरद यादव, बिहार के एक मंत्री और दो अधिकारी गुरुवार की सुबह एक दुर्घटना का शिकार होते-होते बचे.

ये सभी लोग जिस हेलीकॉप्टर पर सवार थे उसे पटना हवाई अड्डा से उड़ान भरने के 10 मिनट बाद ही आपात स्थिति में एक खेत में उतारना पड़ा.

अधिकारियों के मुताबिक़ किसी तकनीकी ख़राबी की वजह से हेलीकाप्टर में ज़ोर-ज़ोर से आवाज़ें आने लगी थीं.

तकनीकी ख़राबी

इस तकनीकी ख़राबी की वजह से हेलीकॉप्टर तेज़ी से नीचे आने लगा था. यह देखकर पायलट ने पटना बाइपास रोड के पास एक ख़ाली ज़मीन देखकर हेलीकॉप्टर को वहाँ सुरक्षित उतार लिया.

शरद यादव ने बताया, ''हेलीकॉप्टर के पायलट ने अगर सूझ-बूझ से काम नहीं लिया होता तो हम दुर्घटना के शिकार हो सकते थे. गनीमत समझिए कि हेलीकॉप्टर बहुत ऊँचाई पर नहीं गया था.''

हेलीकॉप्टर में शरद यादव के साथ बिहार के सड़क निर्माण मंत्री प्रेम कुमार और सचिव स्तर के दो आईएएस अधिकारी प्रत्यय अमृत और सिद्धार्थ सवार थे.

ये सभी लोग मधेपुरा ज़िले में आयोजित एक सड़क पुल के शिलान्यास समारोह में भाग लेने जा रहे थे.

हेलीकॉप्टर के आपात स्थिति में उतरने के बाद ये सभी लोग राज्य सरकार के विमान से समारोह में भाग लेने के लिए रवाना हुए.

सरकार ने हेलीकाप्टर में आई ख़राबी की जांच के आदेश दे दिए हैं.

संबंधित समाचार