छह निलंबित, मेजिस्ट्रेट जांच के आदेश

वैक्सीन
Image caption चार बच्चों की मौत के बाद प्रशासन हरकत में आ गया है.

लखनऊ के क़रीब मोहनलालगंज में खसरे का टीका लगने के बाद हुई चार बच्चों की मौत पर प्रशासन ने मेजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए हैं. इस मामले में राज्य सरकार ने दो डॉक्टरों समेत छह लोगों को निलंबित कर दिया है.

निलंबित किए गए लोगों में मोहनलालगंज में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के इंचार्ज डॉक्टर एसके द्विवेदी भी शामिल है. दूसरे डॉक्टर केपी उपाध्याय हैं जो मोहनलालगंज के निगोहा स्वास्थ्य केंद्र के मेडिकल ऑफ़िसर हैं.

दो डॉक्टरों के अलावा चार स्वास्थ्य कर्मियों को भी निलंबित कर दिया गया है. इनमें सीपी यादव, क्रिस्टीना चरन, अख़्तरी बानो और ऊषा वर्मा शामिल हैं. ये सभी कर्मचारी मोहनलालगंज के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कार्यरत हैं.

इन सभी के ख़िलाफ़ विभागीय जांच के आदेश दिए गए हैं.

मुक़द्दमा दर्ज होगा, वैक्सीन ज़ब्त

सरकार ने इस प्रकरण में आपराधिक जिम्मेदारी तय करने के लिए थाने में मुकद्दमा दर्ज करवाने का फ़ैसला किया है. सरकार ने वैक्सीन को ज़ब्त कर उसे जांच के लिए भेज दिया है.

उत्तर प्रदेश सरकार के एक प्रवक्ता ने कहा है कि जब तक इस मामले की जांच पूरी नहीं हो जाती टीकाकरण अभियान स्थगित रहेगा.

मोहनलालगंज में शनिवार को चार बच्चों की खसरे का टीका लगने के बाद मौत हो गई थी. इन बच्चों की उम्र नौ से 12 महीनों के बीच बताई जाती है.

हादसे के बाद सरकार ने पीड़ित परिवारों को पचास हज़ार रुपए की सहायता का भी ऐलान किया है.

संबंधित समाचार