शशि और सुनंदा की शादी

थरूर

पूर्व विदेश राज्य मंत्री शशि थरूर ने अपनी मित्र सुनंदा पुष्कर के साथ शादी कर ली है.

थरूर और सुनंदा की शादी थरूर के पैतृक निवास स्थान पालक्काड में हुई. पालक्काड केरल का एक ज़िला है जहां के इलावनचेरी गांव में थरूर का घर है.

54 वर्षीय थरूर पूर्व में संयुक्त राष्ट्र के अंडर सेक्रेटरी जनरल रह चुके हैं. शशि और सुनंदा की शादी मलयाली रीति रिवाज़ों के अनुसार हुई.

सुबह साढे आठ बजे के आसपास हुई इस शादी में थरूर ने सुनंदा को केरल में विवाहित महिलाओं के गले में पहना जाने वाला पारंपरिक गहना 'थाली' पहनाया.

इस बीच मंडप में नादस्वरम और ढोल बजते रहे.

इस अवसर पर जहां थरूर ने पारंपरिक मलयाली ड्रेस यानी कुर्ता और मूंडु पहना था वहीं 48 वर्षीय सुनंदा ने बादामी रंग की वेस्टी मुंडु पहना था.

शादी के समारोह से पहले वर वधू ने परिवार के बड़े बूढ़ों और भगवान का आशीर्वाद लिया. आशीर्वाद देने वालों में थरूर की 94 वर्षीय नानी जयशंकरी अम्मा भी शामिल थीं.

ये शादी है.. यहां साउंड बाइट की ज़रुरत नहीं है

शशि थरूर

थाली पहनाने के बाद दोनों ने फूलमालाएं पहनाईं और फिर पुडवा का आदान प्रदान किया. पुडावा नए कपड़ों का पुलिंदा होता है और पुडवा बदलने की रीति केरल के नैयर परिवार में सदियों से मानी जाती रही है.

समाचार माध्यमों के अनुसार विवाह समारोह में दोनों पक्षों के क़रीबी रिश्तेदार ही मौजूद थे.

विवाह समारोह के दौरान सुनंदा एक बार बहुत भावुक भी हो गई थीं.

शशि थरूर की यह तीसरी शादी है. उनकी पहली शादी तिलोत्तमा मुखर्जी से हुई थी जिसके बाद उन्होंने कनाडा की क्रिस्टा जाइल्स से विवाह किया था.

सुनंदा की भी यह तीसरी शादी है. सुनंदा की पहली शादी केरल के व्यवसायी सुजिथ मेनन से हुई थी जिनकी मौत 1997 में एक सड़क दुर्घटना में हुई थी.

सुनंदा की दूसरी शादी से एक लड़का भी है जो 17 साल का है.

शादी में मीडियाकर्मियों को नहीं बुलाया गया था लेकिन बड़ी संख्या में मीडियाकर्मी पहुंच गए थे. जब रिपोर्टरों ने थरूर से बार बार कुछ कहने की मांग की तो उन्होंने इतना ही कहा, '' ये शादी है.. यहां साउंड बाइट की ज़रुरत नहीं है.''

उल्लेखनीय है कि आईपीएल की कोच्चि टीम को लेकर हुए विवाद में थरूर और सुनंदा का मामला सामने आया था.

मामला इतना बढ़ा कि आखिरकार थरूर को अपने पद से इस्तीफ़ा देना पडा. असल में कोच्चि टीम में सुनंदा की भी हिस्सेदारी थी.

माना ये जा रहा था कि सुनंदा की हिस्सेदारी मूलत थरूर की है.

उस समय भी थरूर ने सुनंदा से अपने रिश्तों की बात कबूल की थी.

कुछ समय पहले थरूर और सुनंदा राजस्थान में ख़्वाज़ा ग़रीब नवाज़ की दरगाह पर और महाराष्ठ्र के अहमदनगर में शनि सिगनापुर मंदिर और शिरडी के साई बाबा मंदिर में भी देखे गए थे.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.