उत्तर भारत की कई नदियाँ उफान पर

यमुना में जल स्तर बढ़ा
Image caption यमुना के किनारे कई बस्तियों में पानी भर गया है

लगातार हो रही बारिश की वजह से दिल्ली में यमुना सहित उत्तर भारत की कई नदियाँ उफान पर हैं.

गंगा, घाघरा, शारदा और सरयू नदियों में जल स्तर बढ़ा हुआ है और आसपास के गाँवों तक पानी पहुँचने लगा है.

मंगलवार को दिल्ली में यमुना का जल स्तर और बढ़ने की आशंका व्यक्त की गई है.

इस बीच असम में ब्रह्मपुत्र नदी की कई सहायक नदियों में जल स्तर के बढ़ने और पानी के कई गाँवों में प्रवेश कर जाने की ख़बरें आई हैं.

जबकि पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड की कई नदियों में पानी लगातार बढ़ रहा है.

प्रशासन ने बाढ़ से निपटने के इंतज़ाम किए हैं और बहुत से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है.

यमुना ख़तरे के निशान से ऊपर

हरियाणा के हथिनी कुंड बराज से पानी छोड़े जाने के बाद यमुना में जल स्तर बढ़ना शुरु हुआ.

सोमवार को भी नदी ख़तरे के निशान से ऊपर बह रही थी. अधिकारियों ने आशंका जताई है कि मंगलवार को यमुना का जल स्तर और बढ़ सकता है.

यमुना के किनारे बसी कई बस्तियों में पानी भर गया है और सैकड़ों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है.

अधिकारियों का कहना है कि बाढ़ की स्थिति को देखते हुए बोट और गोताखोर तैयार रखे गए हैं.

कई नालों के पानी को फ़िलहाल यमुना में जाने से रोक दिया गया है.

दूसरी नदियाँ भी उफान पर

उत्तर भारत के पहाड़ों पर पिछले बुधवार के बाद से लगातार हो रही बारिश की वजह से पहाड़ी नदियों में पानी ख़तरे के निशान से ऊपर पहुँच गया है.

कई जगह से भू-स्खलन की ख़बरें मिली हैं जिसकी वजह से आवागमन रुक गया है.

पंजाब में भारी बारिश की वजह से बहुत बड़े इलाक़े में फसलों को नुक़सान पहुँचा है और भारत के दूसरे बड़े बाँध भाखड़ा नंगल में अधिकतम क्षमता तक पानी भर चुका है.

गंगा नदी में हरिद्वार से लेकर गढ़ मुक्तेश्वर तक जल स्तर बढ़ा हुआ है. रायबरेली से भी जल स्तर बढ़ने की ख़बरें हैं.

बिजनौर बराज से पानी छोड़ने के बाद गंगा के जल स्तर में बढ़ोत्तरी हुई है.

उधर बाराबंकी में घाघरा नदी का पानी कई गाँवों में प्रवेश कर गया है. इसकी वजह से सोमवार को कई जगह रेल यातायात प्रभावित होने की ख़बरे हैं.

सरयू का पानी अयोध्या में मंदिरों के दरवाज़ों तक पहुँच गया है.

जबकि शारदा नदी का पानी बहराइच में तटबंधों के बाहर जा निकला है.

पानी बढ़ने की इन ख़बरों के बीच बाढ़ से किसी तरह के जानमाल के नुक़सान की ख़बर फ़िलहाल नहीं मिली है.

असम में बाढ़

बीबीसी के पूर्वोत्तर राज्य संवाददाता सुबीर भौमिक ने ख़बर दी है कि असम में ब्रह्मपुत्र की सहायक नदियों में जलस्तर बढ़ने से कई गाँवों में पानी घुस आया है और सैकड़ों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है.

धेमाजी और लखीमपुर ज़िले में कम से कम पचास गाँवों में घुस गया है.

ख़तरे के निशान से ऊपर बह रही जियाभोल नदी का पानी कम से कम 25 गाँवों में प्रवेश कर गया है.

इसी तरह सीमेन नदी का पानी जोनाई विकासखंड के 15 गाँवों में प्रवेश कर गया है.

अधिकारियों का कहना है कि इस बाढ़ से क़रीब एक लाख लोग प्रभावित हुए हैं.

उत्तर पूर्व जल विद्युत परियोजना (नीपको) के अधिकारियों ने सोमवार की रात को चेतावनी दी थी कि बाँध में पानी बढ़ रहा है और मंगलवार को क्षमता से अधिक पानी एकत्रित हो जाएगा.

संबंधित समाचार