ज़हरीली शराब मामले में सात निलंबित

Image caption इस घटना के सिलसिले में सात सरकारी कर्मचारियों को निलंबित किया गया है

उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद ज़िले के मऊ आइमा कस्बे में ज़हरीली शराब पीने 10 लोगों की मौत हो गई है.

प्रशासन ने पुलिस और आबकारी विभाग के सात कर्मचारियों को निलंबित कर दिया गया है.

प्रशासन के मुताबिक जिन कर्मचारियों को निलंबित किया गया है उनमें एक आबकारी इंस्पेक्टर और पुलिस चौकी के प्रमुख शामिल हैं.

ज़िला प्रशासन ने केवल तीन लोगों की मौत और पोस्ट मॉर्टम की बात कही है.

ज़िला मजिस्ट्रेट संजय प्रसाद ने बीबीसी को बताया, "ज़हरीली शराब पीने से जिन लोगों की मौत हुई है उनके शवों का पोस्ट मार्टम किया जा रहा है."

देर रात ज़िला मजिस्ट्रेट संजय प्रसाद ख़ुद मऊ आइमा कस्बे में पहुंचे और उन्होंने मामले की छानबीन शुरु कर दी.

कुछ स्थानीय पत्रकारों ने बताया है कि विभिन्न मोहल्लों में कुछ लोगों की मौत की ख़बर आई है लेकिन ये सिलसिला अभी जारी है. कई लोग निजी अस्पतालों में भर्ती कराए गए हैं.

बीबीसी को मिली जानकारी के मुताबिक जो लोग मारे गए हैं, उन्होंने शाहगंज मोहल्ले में चोरी से बिकने वाली शराब ख़रीदी थी.

प्रशासन ने मृतकों के परिजनों को 20-20 हज़ार रुपए देने की घोषणा की है.

संबंधित समाचार