उत्तराखंड में बाढ़-भूस्खलन से 15 मरे

उत्तराखंड

उत्तराखंड में बारिश कहर बनकर गिर रही है. भारी बरसात ने राज्य के कई गांवों को मटियामेट कर दिया है. खड़ी फसल और खेत बह गये हैं.

शहरी इलाक़ो में भी हालात भयावह हैं.

अल्मोड़ा के लिए ये काला शनिवार था. ज़िले के कई गांवों में लोगों की आँखें सुबह दहशत में खुलीं.

सोमेश्वर,द्योली,माजाबगड़ बाल्टा, सिरकोट, और कोसी नदी के किनारे कई गांवों में बादल फटने औऱ कोसी में अचानक आई बाढ़ में कई लोग औऱ मवेशी बह गये,कुछ अभी भी फंसे बताए जाते हैं. इसकी वजह से 60 से ज्यादा मकान ध्वस्त हो गए.

स्थानीय लोगों के अनुसार यहां 10 लोगों की मौत हो गई है हांलाकि आपदा विभाग अभी इन्हें लापता बता रहा है.

गाँव बह गया

अलमोड़ा के मनान गांव के स्थानीय किसान मनोज चिमवाल ने बीबीसी को फोन पर बताया कि माजाबगड़ का तो पूरा गांव ही बह गया. सुबह बारिश रूकी तो गांव के लोग खेतों और गौशाला में गए, लेकिन अचानक कोसी में उफान आ गया. कई लोगों को तो रस्सी बांधकर निकाला गया लेकिन कुछ लोग औऱ मवेशी बह ही गए.

राज्य के आपदा प्रबंधन मंत्री खजान दास के मुताबिक नैनीताल से 15 किमी दूर एक स्थान पर हुए भूस्खलन में 7-8 लोग दब गए हैं.

रूड़की में भी मकान गिरने से एक ही परिवार के पाँच लोगों की मौत हो गई है और तीन गंभीर रूप से घायल हो गये हैं.

बताया जाता है कि इससे पहले 1978 में कोसी में ऐसी ही विनाशकारी बाढ़ आई थी.

आपदा प्रबंधन विभाग के अनुसार अलमोड़ा,कौसानी औऱ उत्तरकाशी का संपर्क कट गया है और राज्य के सभी राजमार्ग बंद हैं और पर्वतीय इलाकों में संचार तंत्र ठप्प हो गया है.

अधिकारियों को आशंका है कि धन-जन की और क्षति हुई होगी औऱ इसका पता तब चल पाएगा जब रास्ते खुलेंगे औऱ सुदूर गांवों से संपर्क हो पाएगा. .

सरकार की ओर से राहत और बचाव कार्य तो जारी हैं लेकिन इस भीषण तबाही के सामने इंतजाम नाकाफ़ी है और आपदा प्रबंधन विभाग बेबस और लाचार नजर आ रहा है.

पिछले ढाई महीनों में बारिश औऱ भूस्खलन के प्रकोप में 125 से ज्यादा लोगों की जान गई है औऱ 5000 करोड़ की संपत्ति का नुकसान हुआ है.

पूरे प्रदेश में बारिश के इस विनाशकारी रूप से दहशत का माहौल है .अलमोड़ा में तो लोग इस कदर सहमे हुए हैं कि घर के अंदर जाने से भी डर रहे हैं क्योंकि उन्हें लग रहा है कि भूस्खलन और मकान धंसने की चपेट में न आ जाएं.

उधर मौसम विभाग के अनुसार अभी और बारिश के आसार हैं.

संबंधित समाचार