आकस्मिक चुनौती से न घबराएं-डडवाल

दिल्ली में सुरक्षा (फ़ाइल फ़ोटो)
Image caption राष्ट्रमंडल खेलों के मद्देनजर दिल्ली में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं

राजधानी दिल्ली में तीन अक्टूबर से शुरू हो रहे राष्ट्रमंडल खेलों के लिए पुख्ता इंतजाम किए गए हैं.

दिल्ली पुलिस के आयुक्त वाई एस डडवाल ने बताया है कि खेल स्थल के आस-पास 29,000 पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं.

शनिवार को एक संवाददाता सम्मेलन में डडवाल ने बताया कि दिल्ली पुलिस के साथ भारतीय वायु सेना, राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड, अर्द्ध सैनिक बल मिलकर राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान सुरक्षा को पुख्ता करेंगे.

डडवाल ने कहा कि खेलों के मद्देनजर आने वाली सुरक्षा संबंधी सभी चुनौतियों को ध्यान में रखते हुए हमने पूरी तैयारी की है.

उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस का रवैया पूरी तरह से दोस्ताना होगा. उन्होंने कहा, "हमने दिल्ली के लोगों से यह नहीं कहा है कि खेलों के दौरान वे घर से बाहर न निकलें, बल्कि इन-इन रास्तों पर खेल के मार्ग हैं, इसलिए ट्रैफिक की किसी भी तरह की असुविधा से बचने के लिए घर से निकलने के पहले ही अपनी योजना बना लें."

जल्दी पहुंचें

उन्होंने जनता से अपील की कि खेल देखने के लिए जाने के लिए जल्दी से जल्दी पहुंचने की कोशिश करें. उद्घाटन और समापन समारोह के दौरान टिकट पर अंकित ब्लॉक और पंक्ति के मुताबिक ही सीट ग्रहण करें.

उन्होंने कहा, "किसी भी आकस्मिक चुनौती में न घबराएं, सभी पुलिसकर्मी इन ख़तरों से निपटने के लिए पूरी तरह से प्रशिक्षित हैं. हर तरह की सफलता के लिए हमें दिल्ली के लोगों के सहयोग की ज़रूरत है."

डडवाल ने कहा, "हमारे पास स्पेशल विपन ऐंड टेक्टिस टीम भी है जो किसी भी स्थिति से निपटने के लिए अत्याधुनिक हथियारों से लैस होगी."

दिल्ली पुलिस आयुक्त ने बताया, "राष्ट्रमंडल खेलों के मद्देनजर हमें किसी तरह की धमकी नहीं मिली है. खेल स्थल के आस-पास तकरीबन 3,000 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं."

रविवार से शुरू हो रहे इन खेलों का उद्घाटन समारोह जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में संपन्न होगा. साल 1982 में संपन्न एशियाई खेलों के बाद ये भारत में अब तक के सबसे बड़े खेल आयोजन हैं.

संबंधित समाचार