'मुशर्रफ़ का बयान स्वीकृत तथ्य'

परवेज़ मुशर्रफ़
Image caption मुशर्रफ़ के बयान को भारतीय विदेश मंत्रालय ने पहले से ही 'स्वीकृत तथ्य' बताया है.

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज़ मुशर्रफ़ के चरमपंथियों को ट्रेनिंग देने संबंधी बयान पर भारत के विदेश मंत्रालय ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की है.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने एक बयान में कहा है कि ये पहले से ही स्वीकृत तथ्य है और जनरल मुशर्रफ़ का बयान भारत जो सालों से कहता आया है उसकी पुष्टि करता है.

गौरतलब है कि पाकिस्तान के पूर्व सैन्य शासक परवेज़ मुशर्रफ़ ने एक जर्मन पत्रिका को दिए गए इंटरव्यू में माना है कि पाकिस्तान ने भारत के ख़िलाफ चरमपंथियों को प्रशिक्षित किया.

ये पहली बार है जब पाकिस्तान के किसी शीर्ष नेता ने भारत के ख़िलाफ चरमपंथी गतिविधियों को बढ़ावा देने वाले प्रशिक्षण कैंप चलाए जाने की बात स्वीकारी है.

भारत के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने बयान में है, "इसी वजह से भारत पाकिस्तान से अपनी भूमि का इस्तेमाल भारत के विरुद्ध आतंकी गतिविधियों के लिए न करने और आतंकवादी गुटों को पनाह न देने के लिए एक मज़बूत और टिकाऊ प्रतिबद्धता की मांग करता है."

परवेज़ मुशर्रफ़ ने हाल ही में सक्रिय राजनीति में आने की घोषणा की है. उन्होंने आतंकवादियों को प्रशिक्षण देने संबंधी बयान जर्मन पत्रिका 'डेर स्पीगल' को दिया था.

संबंधित समाचार