नक्सली-पुलिस मुठभेड़ में स्कूली बच्चों की मौत

Image caption विस्फोट में घायल 10 बच्चों में से पांच की हालत गंभीर है.

छत्तीसगढ़ की सीमा के पास नक्सलियों और आईटीबीपी की मुठभेड़ के दौरान फ़ायर किया गया एक ग्रेनेड एक स्कूल के बाहर गिरा जिसमें दो बच्चों समेत चार लोग मारे गए हैं.

ये घटना महाराष्ट्र के गढ़चिरौली ज़िले के सवर्घा गांव के आश्रमशाला स्कूल में हुई जो छत्तीसगढ़ की सीमा के पास है.

शुक्रवार की सुबह ही नक्सलियों ने छत्तीसगढ़ के राजनंदगांव ज़िले में भारत-तिब्बत सीमा पुलिस की टुकड़ी पर हमला किया जिसमें आईटीबीपी के तीन जवान मारे गए और एक घायल हो गया.

स्थानीय पुलिस उपाधीक्षक वीसी चापले ने बताया कि आईटीबीपी और नक्सलियों की मुठभेड़ में संभवत ग्रेनेड दागा गया जो बच्चों के स्कूल के बाहर आकर गिरा.

आईटीबीपी ने इस बात से इनकार किया है कि ग्रेनेड उनके जवानों ने दागा.

आईटीबीपी के प्रवक्ता दीपक पांडेय का कहना था, "अभी ये स्पष्ट नहीं है कि ग्रेनेड जो स्कूल के बाहर गिरा वो किसने चलाया. मामले की पूरी जांच हो रही है."

दीपक पांडेय का कहना था कि नक्सलियों के पास भी सुरक्षाबलों से लूटे हुए हथियार ही हैं और ये कहना बहुत मुश्किल होगा कि ग्रेनेड किसने दागा.

पुलिस उपाधीक्षक चापले का कहना था, ''विस्फोट में दो बच्चे मारे गए जिनकी उम्र पांच से सात साल के बीच है.''

उनका कहना था कि स्कूल के बरामदे पर काम कर रही एक महिला और स्कूल का एक केयरटेकर भी इसमें मारा गया.

पुलिस ने बताया कि इसमें 10 बच्चे घायल हुए हैं जिनमें से पांच की हालत गंभीर है और उन्हें गढ़चिरौली के सरकारी अस्पताल में दाखिल किया गया है.

ये इलाका काफ़ी दूरदराज़ का है और इसलिए इस घटना की ख़बर आते आते शाम हो गई. इलाक़े के वरिष्ठ अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच रहे हैं.

संबंधित समाचार