'मुठभेड़ में आठ नक्सलवादी मारे गए'

विशेष कार्यदल
Image caption पुलिस के मुताबिक़ विशेष कार्यदल के साथ लंबी मुठभेड़ चली

छत्तीसगढ़ पुलिस ने दावा किया है कि उसने शनिवार को आठ माओवादियों को मार दिया है.

राज्य पुलिस के प्रवक्ता राजेश मिश्र का कहना है कि महासमुंद जिले में विशेष कार्य दल यानि 'एसटीएफ़' के साथ घंटों चली मुठभेड़ के बाद आठ माओवादी मारे गए हैं जबकि कई घायल हुए हैं.

अधिकारियों का कहना है कि मुठभेड़ में एसटीएफ़ के दो जवानों को भी गोली लगी है.

पुलिस नें घटनास्थल से भारी मात्रा में हथियार और कारतूस बरामद करने का भी दावा किया है.

छत्तीसगढ़ पुलिस के प्रवक्ता का कहना है कि जिस जगह मुठभेड़ हुई, वह उड़ीसा की सीमा से लगा हुआ इलाका है.

ऐसी खबरें मिल रहीं हैं कि मुठभेड़ के बाद माओवादी उड़ीसा में प्रवेश कर गए हैं.

पुलिस प्रवक्ता ने आठ से ज्यादा माओवादियों के मारे जाने की आशंका व्यक्त करते हुए कहा, "आठ शवों को बरामद किया गया है. माओवादियों को ज़्यादा नुक़सान उठाना पड़ा है."

इस बीच खबरें मिल रहीं हैं कि ये मुठभेड़ राजनंदगांव के उसी इलाक़े में हुई, जहां शुक्रवार को माओवादियों ने बारूदी सुरंग का विस्फोट कर भारत-तिब्बत सीमा बल के तीन जवानों को मारा था.

शनिवार की इस मुठभेड़ के दौरान एक 10 वर्षीय बच्ची को गोली लगने की भी ख़बर है.

दुर्ग प्रक्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक आरके विज का कहना है कि माओवादियों की गोली पास ही एक वाहन से गुज़र रही एक बच्ची को लग गई.

उनका कहना था कि बच्ची को इलाज के लिए भिलाई में भरती कराया गया है.

संबंधित समाचार