जम्मू कश्मीर के लिए वार्ताकारों की घोषणा

भारतीय गृह मंत्री पी चिदंबरम
Image caption गृह मंत्री की घोषणा भारत सरकार के जम्मू कश्मीर शांति बहाली कार्यक्रम का हिस्सा है

भारत सरकार ने जम्मू कश्मीर के विभिन्न गुटों से बातचीत करने के लिए एक तीन सदस्यीय समिति की घोषणा की है.

जाने माने पत्रकार दिलीप पडगाँवकर, सूचना आयुक्त एम एम अंसारी और शिक्षाविद राधा कुमार की इस समिति को गठित करने का फ़ैसला सुरक्षा मामलों की कैबिनेट समिति की बैठक मे लिया गया.

जम्मू कश्मीर के विभिन्न गुटों से बातचीत करने के लिए ऐसी एक समिति की घोषणा भारत प्रशासन के उस आठ सूत्री कार्यक्रम का हिस्सा थी जो उसने घाटी में शांति बहाल करने के इरादे से पिछले महीने की थी.

फ़ैसले की घोषणा करते हुए भारतीय गृहमंत्री पी चिदंबरम ने कहा, “यह फ़ैसला इस बात को साफ़ तौर पर दर्शाता है कि भारत सरकार सालों से मौजूद इस समस्या को सुलझाने के प्रति की गंभीर है.”

जम्मू कश्मीर के सभी वर्गों से बातचीत में शामिल होने की अपील करते हुए पी चिदंबरम ने कहा कि उन्हें आशा है कि यह दल जल्द ही राज्य के सभी वर्गों ख़ास तौर से युवाओं और छात्रों से एक अबाधित और अनवरत वार्ता की शुरूआत कर पाएगा.

उन्होंने कहा कि समिति के एक और सदस्य का घोषणा बाद में की जा सकती है.

Image caption कश्मीर में पिछले चार माह के दौरान हुई हिंसा में कम से कम 108 लोग मारे गए हैं

जब उनसे पूछा गया कि इस समिति में कोई भी राजनीतिज्ञ क्यों नहीं है तो भारतीय गृह मंत्री ने कहा कि इन सभी का व्यक्तिव राजनीतिक है और वे सभी सार्वजनिक जीवन में मौजूद रहें हैं.

दिलीप पडगाँवकर ने बीबीसी को बताया कि समिति की एक सदस्य विदेश यात्रा पर हैं जिनके आते ही एक वह एक बैठक कर आगे की कारवाई का फैसला लेंगें.

उन्होंने कहा कि सरकार ने इस मामले में उन लोगों को अबतक कोई दिशा-निर्देश जारी नहीं किया है लेकिन समिति राज्य का दौरा शुरू करने से पहले जम्मू कश्मीर मामलों की जानकारी रखने वाले लागों से मिलकर आगे की रणनीति तय करेगा.

भारत सरकार ने आठ सूत्रीय पैकेज की दो घोषणाओं को पूरा करते हुए दो अन्य कार्यदलों की घोषणा की गई है.

भारतीय गृह मंत्रालय की एक विज्ञप्ति के अनुसार जम्मू के विकास की जरूरतों पर एक रिपोर्ट तैयार करने के लिए जो छह सदस्यीय कार्यदल बनाया गया है उसकी अध्यक्षता य़ोजना आयोग मेम्बर अभिजीत सेन करेंगें.

वहीं लद्दाख के लिए बनाया गया दल नरेन्द्र जाधव की देखरेख में काम करेगा.

संबंधित समाचार