पेट्रोल 70 पैसे प्रति लीटर महंगा

पेट्रोल पंप
Image caption केंद्रीय मंत्रिमडल ने पेट्रोल डीज़ल की क़ीमतों में बढ़ोतरी की है.

सरकारी उपक्रम भारत पेट्रोलियम कारपोरेशन लिमिटेड (बीपीसीएल) ने शुक्रवार को आधी रात से पेट्रोल के दामों में 70 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि कर दी है.

संभावना है कि सार्वजनिक क्षेत्र के दो अन्य तेल उपक्रम भी अगले दो दिनों में पेट्रोल के दाम बढ़ा देंगे.

अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में कच्चे तेल की क़ीमतों में बढ़ोत्तरी के बाद पेट्रोल के दाम बढ़ाने का निर्णय लिया गया है.

कंपनी के एक अधिकारी ने समाचार एजेंसियों को बताया कि पेट्रोल के दामों में 70 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि की गई है जिसके अनुसार दिल्ली में पेट्रोल का मूल्य 52.55 रूपये प्रति लीटर हो गया है.

अन्य शहरों में यह मूल्य वृद्धि स्थानीय करों तथा लेवी पर निर्भर करेगी.

उद्योग के सूत्रों ने बताया कि इंडियन ऑयल कारपोरेशन और हिंदुस्तान पेट्रोलियम कारपोरेशन (एचपीसीएल) भी सप्ताहांत तक पेट्रोल के दाम बढ़ा सकते हैं.

तीनों तेल कंपनियाँ अब एक साथ क़ीमतों में बढ़ोत्तरी नहीं करतीं जिससे कि उन पर साँठगाँठ करने का आरोप न लगे.

वैसे अब तीनों तेल कंपनियों के दाम भी एक जैसे नहीं है. उदाहरण के तौर पर इंडियन ऑयल कंपनी के पेट्रोल की क़ीमत बीपीसीएल की तुलना में तीन पैसे कम है. जबकि एचपीसीएल का पेट्रोल बीपीसीएल से एक पैसे और सस्ता है.

तेल कंपनियों का कहना है कि अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में कच्चे तेल की क़ीमत पिछले दिनों 80 डॉलर प्रति बैरल से भी अधिक हो गई है जिसकी वजह से उन्हें प्रति लीटर पेट्रोल पर लगभग एक रुपए का घाटा हो रहा है.

उल्लेखनीय है कि पिछले जून में सरकार ने पेट्रोल की क़ीमतों पर से नियंत्रण को ख़त्म कर दिया था और इसे तेल कंपनियों पर छोड़ दिया था कि वे कच्चे तेल की क़ीमतों के आधार पर पेट्रोलियम पदार्थों की क़ीमतें तय करें.

जून के बाद से पेट्रोल के दामों में यह दूसरी बढ़ोत्तरी है.

संबंधित समाचार