ब्लॉग ने पहुँचाया थाने

कंप्यूटर
Image caption मन की बात दुनियॉ से बाँटना पति को मँहगा पड़ा

धार्मिक विधि विधान पति-पत्नी के रिश्ते को जन्म-जन्मांतर का संबध मानते हैं मगर जब रिश्तों की व्याख्या की गई थी तब 'इंटरनेट' नहीं था.

राजस्थान के जोधपुर में इंटरनेट के इस्तेमाल - ‘ब्लॉग के ज़रिए छवि ख़राब करने’ का आरोप लगा कर एक पत्नी ने पति के ख़िलाफ़ पुलिस केस दर्ज कर दिया है.

जोधपुर में शास्त्री नगर के थानेदार चन्द्र प्रकाश कहते हैं, “हमने एक ऐसी एफ़आईआर दर्ज की है जिसमें महिला ने अपने पति पर ब्लॉग का उपयोग कर उसकी छवि धूमिल करने का आरोप लगाया है.”

उन्होंने बीबीसी से कहा कि मुकदमा आईटी ऐक्ट में दर्ज किया गया है. वैसे तो ये पति पत्नी के बीच का मामला है लेकिन अगर आरोप साबित हुए तो पुलिस कार्रवाई करेगी.

महिला का आरोप है कि चूँकि पति को आईटी में कुशलता हासिल है और वे बंगलौर में एक मशहूर आईटी कंपनी में अधिकारी हैं तो उन्होंने इसका गलत उपयोग किया है.

पति पत्नी में पिछले एक साल से ज़्याद समय से तनाव चल रहा है.

संबधों में आई ये तल्ख़ी पहले एक कानूनी जंग में बदली और फिर वो तकनीक के मंच पर नमूदार हुई.

ब्लॉग

इस ब्लॉग में पति ने अपनी कथित 'वेदना' व्यक्त की है और रिश्ते में आए फ़ासले के लिए अपनी पत्नी और ससुराल को ज़िम्मेदार बताया है.

पति ने पत्नी के गर्भपात का जिक्र किया और कहा है कि अजन्मा बच्चा यूँ ही नहीं चला गया. वे ऐसे लोगो को माफ़ नहीं करेंगे.

उधर पत्नी ने जब ब्लॉग देखा तो बिफर गई.

उनका इल्ज़ाम है कि ये एकतरफा झूठा प्रचार उसकी प्रतिष्ठा ख़राब करने की नीयत से किया जा रहा है.

उन्होंने पुलिस से कार्रवाई की माँग की है.

संबंधित समाचार