बिहार में चौथे चरण का मतदान जारी

बिहार में चौथे चरण का मतदान जारी है. इस दौर में राज्य के पूर्वी, मध्य और दक्षिणी इलाकों के आठ ज़िलों की 42 विधानसभा सीटों के लिए वोट डाले जा रहे हैं. शाम चार बजे तक 47.6 प्रतिशत मतदान हुआ है.

ये आठ ज़िले हैं पटना, भागलपुर, बेगूसराय, खगड़िया, बांका, जमुई, मुंगेर और लखीसराय.

चौथे चरण में करीब डेढ़ करोड़ मतदाता 568 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे जिनमें कई दिग्गज नेता भी शामिल हैं.

दिग्गज नेताओं में प्रमुख हैं भागलपुर से बीजेपी के तीन बार से विधायक और मंत्री अश्विनी कुमार चौबे पटना साहिब से नंद किशोर यादव, बांका से विधायक और नीतीश सरकार में पशुपालन और मत्स्य विभाग के मंत्री राम नारायण मंडल, कहलगांव से पांच बार के कांग्रेस विधायक और पूर्व विधानसभा अध्यक्ष सदानंद सिंह और झाझा से जेडीयू के विधायक और मंत्री दामोदर राव.

आचार संहिता का उल्लंघन

इस बीच मतदान के दौरान राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव के ख़िलाफ चुनाव आचार संहिता उल्लंघन संबंधी एक एफआईआर दर्ज की गई है.

बीबीसी संवाददाता मणिकांत ठाकुर के मुताबिक़ उन पर आरोप है कि वे अपने सुरक्षाकर्मियों को साथ लेकर एक मतदान केंद्र के अंदर चले गए. आचार संहिता के मुताबिक ऐसा करना वर्जित है.

पटना हवाई अड्डा थाना क्षेत्र में इलाके के प्रखंड विकास अधिकारी (बीडीओ) ने ये एफआईआर दर्ज कराई. ये क्षेत्र दिंगा विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आता है जो पटना शहर के पश्चमी इलाके का भाग है.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना ज़िले के बख्तियारपुर विधानसभा क्षेत्र में एक बूथ पर अपना वोट डाला. इस मौक़े पर उन्होंने संवाददाताओं से बात करते हुए लालू प्रसाद यादव के ख़िलाफ़ दर्ज़ एफआईआर पर कहा कि लालू यादव 'क़ानून तोड़ने के आदी हैं'.

निर्वाचन क्षेत्र

राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी सुधीर कुमार राकेश ने बताया है कि चौथे चरण के 42 निर्वाचन क्षेत्रों में 6 सीटें आरक्षित हैं.

14 निर्वाचन क्षेत्रों में सुबह सात बजे से तीन बजे तक मतदान का समय निर्धारित किया गया है जबकि शेष 28 निर्वाचन क्षेत्रों में सुबह सात बजे से शाम पांच बजे तक मतदान कराया जाएगा.

जिन मतदान क्षेत्रों में सात बजे से तीन बजे तक मतदान होगा वो हैं बेगूसराय ज़िले के बछवाड़ा, तेघड़ा, बेगूसराय और सुरक्षित क्षेत्र बखरी.

इसके अतिरिक्त खगड़िया जिले के सुरक्षित क्षेत्र अलौली, बांका के सुरक्षित क्षेत्र कटोरिया और बेलहर, मुंगेर ज़िले के तारापुर और जमालपुर, लखीसराय ज़िले का सूर्यगढ़ा और जमुई ज़िले के सुरक्षित क्षेत्र सिकंदरा, जमुई, झाझा और चकाई निर्वाचन क्षेत्रों में भी सुबह सात बजे से तीन बजे तक मतदान कराया जाएगा.

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने जानकारी दी कि चौथे चरण के निर्वाचन में कुल निर्वाचकों की संख्या 1 करोड़ 47 लाख 974 है जिसमें सामान्य निर्वाचक 1 करोड़ 35 लाख 663 हैं.

सामान्य निर्वाचकों में 54 लाख 31 हज़ार 707 पुरुष हैं और 46 लाख तीन हज़ार 956 महिलाएं हैं.

उम्मीदवार

चौथे चरण के चुनाव में उम्मीदवारों की कुल संख्या 568 है जिनमें 510 पुरुष और 58 महिला उम्मीदवार हैं.

आज के चुनाव में जनता दल यूनाइटेड ने 25 और भारतीय जनता पार्टी ने 17 उम्मीदवार मैदान में उतारे हैं.

Image caption चौथे चरण में करीब डेढ़ करोड़ मतदाता 568 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे

राष्ट्रीय जनता दल ने 26 और लोक जनशक्ति पार्टी ने 16 उम्मीदवार खड़े किए हैं.

इंडियन नेशनल कांग्रेस ने सभी 42 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े किए हैं. बहुजन समाज पार्टी के 40 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं जबकि कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया ने 13 और कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (मार्क्सवादी) ने 6 उम्मीदवार खड़े किए हैं.

इस तरह मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय और राज्य स्तरीय दलों के कुल 212 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं जबकि गैर मान्यताप्राप्त लेकिन निबंधित दलों के 171 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं.

आज के चुनाव में निर्दलीय उम्मीदवारों की संख्या 185 है.

सबसे बड़ी और छोटी सीट

सबसे ज्यादा उम्मीदवार वाली सीट है भागलपुर की सुल्तानगंज जहां से 24 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं जबकि खगड़िया की अलौली (सुरक्षित) और बांका की कटोरिया (सुरक्षित) सीट से आठ-आठ उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं.

Image caption अतिसंवेदनशील मतदान केंद्रों पर सुरक्षा का खास ख्याल रखा गया है

लखीसराय में मतदान केंद्रों की संख्या सबसे अधिक 334 है.

सबसे अधिक मतदाताओं वाला निर्वाचन क्षेत्र दीघा है जहां 3 लाख 41 हज़ार 913 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे.

निर्वाचकों की संख्या के आधार पर सबसे छोटा निर्वाचक क्षेत्र बांका जिले का कटोरिया सुरक्षित क्षेत्र है जहां कुल निर्वाचकों की संख्या 1 लाख 86 हज़ार 150 है.

भारतीय निर्वाचन आयोग ने साफ-सुथरी चुनाव प्रक्रिया के लिए 42 सामान्य प्रेक्षक तैनात किए हैं जबकि

व्यय प्रेक्षकों की संख्या 11 है.

इनके अलावा 1344 सामान्य और 53 एक्सपेंडीचर माइक्रो ऑब्ज़र्वर भी लगाए गए हैं.

सुरक्षा के तगड़े इंतज़ाम

शांतिपूर्ण मतदान सुनिश्चित करने के लिए सुरक्षा के व्यापक इंतज़ाम किए गए हैं. मतदान वाले आठ ज़िलों में अति संवेदनशील मतदान केंद्रों की संख्या 5677 है.

इन अतिसंवेदनशील मतदान केंद्रों पर सुरक्षा का खास ख्याल रखा गया है.

संबंधित समाचार