मरने वालों की संख्या 23 हुई

नाव दुर्घटना

पश्चिम बंगाल में मूढ़ीगंगा नदी में एक नाव दुर्घटना में मरने वालों की संख्या बढ़कर 23 हो गई है.

लेकिन अब भी 100 से ज़्यादा लोग लापता हैं. शनिवार को ये नाव दुर्घटना सागरद्वीप के पास हुई थी. इस नाव पर ज़रूरत से ज़्यादा लोग सवार थे.

अधिकारियों को आशंका है कि मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है.

रविवार को दिनभर चले बचाव कार्य में पाँच और शव मिले हैं. तो अब कुल मिलाकर मरने वालों की संख्या 23 हो गई है. शनिवार को 18 शव बरामद किए गए थे.

बचाव कार्य

बचाव दल ने रविवार को 15 वर्षीय एक लड़के को भी ढूँढ़ निकाला, जो नाव पलटने के बाद तैरते-तैरते एक द्वीप में पहुँच गया था और उसे वहीं रात बितानी पड़ी.

सुबह पाँच बजे से ही बचाव कार्य चल रहा है. बचाव कार्य में स्थानीय प्रशासन, पुलिस के अलावा तटरक्षक और नौसेना के जवान भी शामिल है.

बचाव कार्य की निगरानी कर रहे पश्चिम बंगाल के मंत्री कांति गांगुली ने माना है कि स्थिति गंभीर है. उन्होंने बताया है कि नाव पूरी तरह डूब चुकी है, इसलिए उसे ढूँढ़ना मुश्किल है.

राज्य के मुख्यमंत्री बुद्धदेब भट्टाचार्य ने घटनास्थल का दौरा किया. उन्होंने ये तो घोषणा की कि मृतकों के परिजनों को मुआवज़ा दिया जाएगा, लेकिन कितना मुआवज़ा मिलेगा- ये अभी पता नहीं चल पाया है.

वैसे सरकार का ध्यान अभी बचाव कार्य पर ज़्यादा है.

दुर्घटना

ये नाव पूर्वी मिदनापुर ज़िले के हिजली शरीफ़ दरगाह से काकद्वीप जा रही थी. इस नाव पर बड़ी संख्या में महिलाएँ और बच्चे भी सवार थे.

बचावकार्य तेज़ी से चल रहा है और अभी तक 50 लोगों को बचा लिया गया है.

बचावकार्य में नौसेना को भी शामिल किया गया है. एक महीने के अंदर इस नदी में हुई ये दूसरी दुर्घटना है.

सुंदरबन डेल्टा में नाव पर ज़रूरत से ज़्यादा लोगों का सफ़र करना आम बात है. इसके कारण कई बार दुर्घटनाएँ भी होती रहती हैं.

संबंधित समाचार