चौथे चरण में 51 फ़ीसदी मतदान

बिहार चुनाव

बिहार विधानसभा चुनाव के लिए मतदान का चौथा चरण समाप्त हो गया है. राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी सुधीर कुमार राकेश के मुताबिक़ चौथे चरण में 51 प्रतिशत मतदान हुआ है.

इस चरण में आठ ज़िलों की 42 विधानसभा सीटों के लिए वोट डाले गए. हालाँकि इस दौरान हिंसा की कुछ घटनाएँ भी हुईं. लेकिन किसी की जान नहीं गई.

जमुई में माओवादियों ने सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ़) के गश्ती दल को निशाना बनाया तो दानापुर में तीन विस्फोट हुए.

जमुई में तो कोई हताहत नहीं हुआ, लेकिन दानापुर में हुए धमाके में एक महिला घायल हो गई. इस मामले में चार लोगों को गिरफ़्तार भी किया गया है.

इस बीच मतदान के दौरान राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव के ख़िलाफ चुनाव आचार संहिता उल्लंघन संबंधी एक एफआईआर दर्ज की गई है.

उल्लंघन

बीबीसी संवाददाता मणिकांत ठाकुर के मुताबिक़ उन पर आरोप है कि वे अपने सुरक्षाकर्मियों को साथ लेकर एक मतदान केंद्र के अंदर चले गए. आचार संहिता के मुताबिक ऐसा करना वर्जित है.

पटना हवाई अड्डा थाना क्षेत्र में इलाके के प्रखंड विकास अधिकारी (बीडीओ) ने ये एफआईआर दर्ज कराई. ये क्षेत्र दिंगा विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आता है जो पटना शहर के पश्चमी इलाके का भाग है.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना ज़िले के बख्तियारपुर विधानसभा क्षेत्र में एक बूथ पर अपना वोट डाला. इस मौक़े पर उन्होंने संवाददाताओं से बात करते हुए लालू प्रसाद यादव के ख़िलाफ़ दर्ज़ एफआईआर पर कहा कि लालू यादव 'क़ानून तोड़ने के आदी हैं'.

चौथे चरण में जिन दिग्गज नेताओं के भाग्य का फ़ैसला होना है, उनमें प्रमुख हैं- भागलपुर से भाजपा के तीन बार से विधायक और मंत्री अश्विनी कुमार चौबे, पटना साहिब से नंद किशोर यादव, बांका से विधायक और नीतीश सरकार में पशुपालन और मत्स्य विभाग के मंत्री राम नारायण मंडल, कहलगांव से पांच बार के कांग्रेस विधायक और पूर्व विधानसभा अध्यक्ष सदानंद सिंह और झाझा से जेडीयू के विधायक और मंत्री दामोदर राव.

संबंधित समाचार