पाकिस्तानी मीडिया में ओबामा की यात्रा

पाकिस्तानी अख़बार

पाकिस्तान के सभी समाचार पत्रों ने अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की भारत यात्रा को पहले पन्ने पर छापा है.

कुछ अख़बारों ने उनकी भारत यात्रा पर संपादकीय भी लिखे हैं और ओबामा और मिशल की वह तस्वीरें प्रकाशित की हैं जब उन्होंने स्कूली छात्रों के साथ कोली नृत्य किया था.

अंग्रेज़ी के सब से बड़े अख़बार ‘डेली डॉन’ ने राष्ट्रपति ओबामा की ख़बर को मुख्य तौर पर पहले पन्ने पर प्रकाशित किया है और उसका शीर्षक है- बी ए गुड नेबर, ओबामा टेल्स इंडिया यानि ओबामा की भारत को सलाह कि अच्छे पड़ोसी बनो.

अख़बार आगे लिखता है कि राष्ट्रपति ओबामा ने मुंबई में छात्रों के तीखे सवालों के जवाब दिए और पाकिस्तान पर पूछे गए सवाल पर कहा कि पाकिस्तान की स्थिरता से अगर किसी देश को सबसे अधिक लाभ होगा तो वह है भारत और उन्हें आशा है कि दोनों देश बातचीत के माध्यम से सभी मुद्दे सुलझाएंगे.

अख़बार लिखा है कि अमरीकी राष्ट्रपति ने भारतीय छात्रों के सवालों का जवाब देते हुए पाकिस्तान को स्पष्ट संदेश दिया कि वह आतंकवाद और चरमपंथ से निपटने के लिए अपने प्रयासों को ओर तेज़ करे.

अंग्रेज़ी के एक ओर अख़बर ‘डेली टाइम्स’ ने भी ओबामा की भारत यात्रा को अपनी मुख्य ख़बर बनाया है और उसका शीर्षक है- ओबामा पुशेस इंडिया टु टॉक टु पाकिस्तान यानि ओबामा ने भारत पर पाकिस्तान से बातचीत के लिए दबाव डाला.

अख़बार लिखता है कि अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भारत और पाकिस्तान से कहा कि वे बातचीत के ज़रिए पहले वे मुद्दे हल करें जो ज़्यादा विवादास्पद नहीं हैं और अमरीका दोनों देशों पर शांति लागू नहीं कर सकता.

'मुद्दे हल करें'

राष्ट्रपति ओबामा का उल्लेख देते हुए अख़बार आगे लिखता है कि पाकिस्तान में राजनीतिक स्थिरता भारत के हित में है और स्थिर पाकिस्तान का सब से ज़्यादा फ़ायदा भी भारत को ही होगा.

अख़बार लिखता है कि अमरीका ने एक बार फिर पाकिस्तान से कहा है कि वह आतंकवाद और चरमपंथ को निपटने केलिए अपनी कोशिशें तेज़ करे ताकि इस क्षेत्र में शांति स्थापित हो सके.

अख़बार ने ओबामा की भारत पर यात्रा पर संपादकीय भी लिखा है जिसमें कहा गया है कि पाकिस्तान को उम्मीद है कि राष्ट्रपति ओबामा भारतीय नेतृत्व से कश्मीर मुद्दे पर बात करेंगे और उसके हल के लिए भारत पर दबाव डालेंगे.

अंग्रेज़ी के अख़बर ‘दी नेशन’ ने भी ओबामा की ख़बर को पहले पन्ने पर जगह दी है और उसका शीर्षक है- केरेट्स फॉर इंडिया, स्टिक फॉर पाकिस्तान यानि भारत की पीठ थपथपाई और पाकिस्तान को झिड़की.

अख़बार ने अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की उस टिप्पणी को अपनी मुख्य ख़बर बनाया है जिसमें उन्होंने पाकिस्तान की आलोचना की है कि आतंकवाद के ख़ात्मे के लिए उसकी कोशिशें काफ़ी नहीं हैं.

अख़बार ने आगे लिखा है कि अमरीकी राष्ट्रपति ने भारतीय छात्रों से बात करते हुए कहा कि आतंकवाद के ख़ात्मे के लिए पाकिस्तानी की प्रगति जिनती होनी चाहिए थी, उतनी नहीं है और पाकिस्तान को अपने प्रयास तेज़ करने चाहिए.

उर्दू के अख़बार ‘रोज़नामा एक्सप्रेस’ का शीर्षक है-ख़ुशहाल पाकिस्तान का ज़्यादा फ़ायदा भारत को है.

अख़बार आगे लिखता है कि राष्ट्रपति ओबामा ने भारत से कहा कि वह आतंकवाद के ख़िलाफ़ पाकिस्तान की मदद करे क्योंकि केवल अमरीका नहीं बल्कि पूरी दुनिया आतंकवाद का शिकार है.

अख़बार ने राष्ट्रपति ओबामा और उनकी पत्नी मिशल ओबामा की वह तस्वीरें भी प्रकाशित की हैं जिसमें उन्होंने मुंबई में स्कूली छात्रों के साथ नाच किया था.

संबंधित समाचार