दिल्ली में इमारत ढही, 34 मरे

इमारत ढहने से घायल एक बच्ची
Image caption अभी इमारत के ढहने की वजह का पता नही चल पाया है

राजधानी दिल्ली के लक्ष्मीनगर इलाक़े में एक इमारत के ढह जाने से कम से कम 34 लोगों की मौत हो गई है और कई लोग घायल हुए हैं.

मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने देर रात बीबीसी से बातचीत में कहा कि मरनेवालों की संख्या 34 हो गई है और कुछ लोग अस्पताल में भर्ती भी हैं.

उनका कहना था, '' ये बड़ी बिल्डिंग थी. राहत कार्य में थोड़ी दिक्कत भी आ रही है. राहत में कोई कोताही नहीं बरती गई है. ये संभावना बिल्कुल हो सकती है कि अवैध निर्माण हो. इस पर जांच की ज़रुरत होगी. अभी तक की जानकारी के अनुसार 34 लोगों की मौत हो गई है.''

ढही इमारत की तस्वीरें

मुख्यमंत्री का कहना था, '' अभी तो स्पष्ट रुप से कुछ कहना मुश्किल है. हो सकता है अवैध निर्माण हो. लापरवाही भी हो सकती है. अभी इस पर किसी नतीज़े पर पहुंचना सही नहीं होगा.''

अधिकारियों का कहना है कि बचाव एवं राहत कार्य जारी है और घायलों को अस्पताल पहुंचा दिया गया है.

घटनास्थल पर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी एवं राहत बचाव दल के लोग मौजूद हैं लेकिन स्थानीय लोगों में इस घटना को लेकर ख़ासा रोष दिख रहा है.

Image caption शीला दीक्षित का कहना है कि इमारत गिरने के कई कारण हो सकते हैं.

इससे पहले दिल्ली की स्वास्थ्य मंत्री किरन वालिया ने अस्पताल में संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि अब तक मरने वालों की संख्या 20 से अधिक हो गई है जबकि बड़ी संख्या में घायल अस्पतालों में भर्ती किए गए हैं.

किरन वालिया का कहना था, ‘‘राहत एवं बचाव कार्य में कोई ढील नहीं दी जा रही है. सुबह तक राहत कार्य पूरा हो जाएगा. यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण है. अस्पतालों में कई घायल भर्ती हैं.’’

बताया जाता है कि यह इमारत पांच मंज़िलों से अधिक की थी और इसके बेसमेंट में पानी भरा हुआ था. आम तौर पर दिल्ली में सिर्फ़ तीन मंज़िला इमारतों को ही अनुमति दी गई है.

लक्ष्मीनगर इलाक़े के ललिता पार्क में इस इमारत में कई लोग रहते थे और इमारत क़रीब तीस साल पुरानी थी.

कांग्रेस नेता और दिल्ली के वित्त मंत्री एके वालिया का कहना था कि इलाक़े के पास यमुना नदी बहती है और यमुना का पानी इस इलाक़े की बिल्डिगों में घुस आता है.

ख़बरों के मुताबिक इस बिल्डिंग का मालिक अमृत सिंह है जो इस समय फ़रार बताया जाता है.