येदुरप्पा के परिजनों ने ज़मीन लौटाई

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदुरप्पा के बेटे और बेटी ने उन्हें आवंटित हुई ज़मीन लौटा दी है.

अपने परिवारजनों को कथित तौर पर ज़मीन आवंटित करने को लेकर येदुरप्पा विवाद में फँसे हुए हैं. भारतीय जनता पार्टी नेतृत्व ने उन्हें दिल्ली तलब किया है.

येदुरप्पा के बेटे बीवाई राघवेंद्र ने बंगलौर विकास प्राधिकरण को एक पत्र दिया है और आवंटित ज़मीन वापस लौटा दी. ये 50x 80 फ़ीट का प्लॉट था.

मुख्यमंत्री की बेटी उमा देवी ने भी कहा है कि उन्हें मिली दो एकड़ ज़मीन रद्द कर दी जाए. ये ज़मीन उन्हें कर्नाटक औद्योगिक विकास बोर्ड ने दी थी.इसके अलावा येदुरप्पा के दो रिश्तेदारों ने भी ज़मीन लौटा दी है.

ये क़दम राज्य कैबिनेट के उस फ़ैसले के बाद आया है जिसमें पिछले दस सालों में ज़मीन आवंटन के मामलों की न्यायिक जाँच के आदेश दिए गए हैं. इसमें एसएम कृष्णा, धर्म सिंह और एचडी कुमारस्वामी का कार्यकाल शामिल है.

कर्नाटक के मुख्यमंत्री ने शुरु में कहा था कि उन्होंने अपने परिजनों को ज़मीन देकर किसी नियम का उल्लंघन नहीं किया. येदुरप्पा का कहना था कि उनके पहले रहे मुख्यमंत्रियों ने भी ज़मीन आवंटित की थी.

भाजपा में ये संकट ऐसा समय खड़ा हुआ है जब पार्टी संसद में केंद्र सरकार को भ्रष्ट्राचार के मुद्दे पर घेरे हुए है.

कांग्रेस येदुरप्पा मुद्दे का इस्तेमाल भाजपा पर पलटवार करने के लिए कर रही है. गुरुवार रात को लाल कृष्ण आडवाणी के घर पर पार्टी की कोर समिति की बैठक हुई थी.

संबंधित समाचार