छठे चरण में 51 फ़ीसदी मतदान

बिहार चुनाव
Image caption शनिवार को अंतिम दौर के मतदान में 18 सीटों पर विशेष सुरक्षा इंतज़ाम किए गए हैं.

बिहार विधानसभा के छठे और अंतिम चरण में छिटपुट हिंसा के बीच औसतन 51 प्रतिशत मतदान हुआ है.

बिहार के निर्वाचन अधिकारियों के अनुसार बिहार विधानसभा के लिए सभी चरणों के मतदान मिलाकर 52.74 प्रतिशत मत पड़े हैं.

निर्वाचन अधिकारियों का कहना है कि इस बार महिलाओं ने ज़्यादा उत्साह के साथ मतदान में हिस्सा लिया.

उनके अनुसार वर्ष 2005 की तुलना में इस बार मतदान करने वाली महिलाओं की संख्या 10 प्रतिशत अधिक रही.

छठे चरण में नक्सली हिंसा से प्रभावित इलाक़े थे और इस चरण में कई जगह से छिटपुट हिंसा हुई है जिसमें कम से कम दो लोगों की मौत हुई है और आठ अन्य घायल हुए हैं.

इस चरण की 18 संवेदनशील सीटों पर दोपहर तीन बजे मतदान ख़त्म हो गया था. इन सीटों पर औसतन 47 प्रतिशत मतदान हुआ.

शेष स्थानों पर शाम पाँच बजे मतदान ख़त्म हुआ.

बिहार विधानसभा की 243 सीटों के लिए मतगणना 24 नवंबर को होगी.

छिटपुट हिंसा

इस दौर में जिन 26 सीटों पर मतदान हुआ उनमें से 18 नक्सल प्रभावित इलाक़ों में थे और वहाँ सुरक्षा के विशेष इंतज़ाम किए गए थे.

गया ज़िले में एक बम को निष्क्रिय करते समय सुरक्षा बलों के दो जवानों की मौत हो गई है. इसमें से एक जवान होमगार्ड का था.

राज्य के पुलिस महानिदेशक नीलमणि के अनुसार इस विस्फोट में सात अन्य घायल हुए हैं जिन्हें इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया है.

उनका कहना है कि यह बम मेगरा-डुमड़िया के बीच लुंडा गाँव में एक पुलिया के नीचे मिला था. उन्होंने बताया कि उसे निकाल तो लिया गया था लेकिन निष्क्रिय करते हुए विस्फोट हो गया.

अधिकारियों के अनुसार रोहतास क्षेत्र सुबह से पुलिस और नक्लसियों के गोलीबारी भी हुई है.

उनका कहना है कि तीन जगहों पर ज़िंदा बम भी मिले.

बिहार पुलिस के प्रवक्ता के अनुसार शेरघाटी अनुमंडल में बाराचट्टी विधानसभा क्षेत्र में विस्फोट हुआ. इस विस्फोट में केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल का एक जवान घायल हुआ है.

विस्फोट की दूसरी घटना बाराचट्टी विधानसभा के सुखिया मतदान केंद्र के पास हुई.

संबंधित समाचार