किसान बने अमिताभ बच्चन

अमिताभ बच्चन

अमिताभ बच्चन ने आख़िरकार ये साबित कर ही दिया कि वो केवल कलाकार ही नहीं बल्कि किसान भी हैं.

अमिताभ बच्चन पत्नी जया बच्चन के साथ बुधवार को अचानक काकोरी के मुज़फ़्फ़रनगर गाँव पहुंचे और अपना खेत जोता.

जब वह अपने फ़ार्म हाउस पहुंचे उस समय उनके खेत की देखभाल करने वाले हर्ष पाल ट्रैक्टर से खेत जोत रहे थे.

अमिताभ बच्चन ने हर्ष पाल से अनुरोध किया कि वह ट्रैक्टर उसे सौंप दे.

पहले तो हर्ष पाल असमंजस में पड़ गए, मगर उनका कहना है, ''बाद में मैंने सोचा कि फ़िल्म में चलाया ही होगा इसलिए दे दिया.''

अमिताभ ने गेयर सिस्टम समझा और फिर ड्राइविंग सीट पर बैठकर चालू हो गए.

इस बीच कानोंकान खबर पाकर लोग अमिताभ बच्चन को देखने के लिए जुटने लगे. कोई पत्रकार तो नही पहुँच पाया लेकिन एक आदमी ने मोबाइल फ़ोन से फोटो खींच लिया.

अमिताभ लगभग 20 मिनट वहाँ रहे और वापस चले आए.

पता चला है कि वे सहारा इंडिया के चैयरमैन सुब्रत राय की भांजी की शादी के सिलसिले में लखनऊ आए थे.

बीज उगाने का ठेका

अमिताभ बच्चन, जया बच्चन और बेटे अभिषेक ने हाल ही में लगभग छह हेक्टर जमीन काकोरी के मुज़फ़्फ़रनगर गाँव में ख़रीदी है.

अमिताभ और उनके परिवार ने उत्तर प्रदेश सरकार के एक प्रतिष्ठान से प्रमाणित बीज उगाने का ठेका लिया है.

जानकारों के अनुसार ऐसा इसलिए ताकि उनके खेतिहर होने का रिकॉर्ड रहे और आयकर वाले सवाल न उठाएँ.

अमिताभ ने इससे पहले मुलायम सरकार के दौरान बाराबंकी में गाँव समाज की कुछ जमीन अपने नाम कराई थी जिसको लेकर उनके ख़िलाफ़ सरकारी दस्तावेजों में हेराफेरी तक के आरोप लगे थे.

लेकिन उन्होंने जमीन पर दावा छोड़ दिया और हाईकोर्ट ने उन्हें मुक़दमे से राहत दे दी.

ख़बरें थी कि अमिताभ ने महाराष्ट्र में पुणे के पास कुछ ऐसी खेती की ज़मीन ख़रीदी थी जिसके लिए पुराना किसान होना ज़रूरी था और जब उनसे यह प्रमाण माँगा गया, उसके बाद ही उन्होंने अपने तत्कालीन मित्र अमर सिंह और मुलायम सरकार की मदद से बाराबंकी से किसान होने का प्रमाण पत्र बनवाया था.

अमिताभ अकेले ऐसे किसान नही हैं, दूसरे नहीं ऐसे अनेक कलाकार, अफसर और नेता हैं जिन्होंने फार्म हाउस बना रखे हैं.

इनमे से कई खेती से काफ़ी आय भी दिखाते हैं. कृषि से आमदनी आयकर से मुक्त है.

संबंधित समाचार