कारखाने में धमाका, पांच की मौत

फ़ाइल फ़ोटो
Image caption छत्तीसगढ़ में पहले भी कुछ कारखानों में दुर्घटनाएँ हुईं हैं

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के सिलतरा इलाक़े में स्थित एक कारखाने में हुए धमाके में पांच कर्मचारियों के मारे जाने की ख़बर है. मारे गए लोगों में एक मैनेजर, इंजीनियर और तीन कर्मचारी शामिल हैं.

घटना मंगलवार की शाम लगभग आठ बजे की बताई जा रही है. पुलिस का कहना है कि विस्फोट उस समय हुआ जब ये सभी पाँचों कर्मचारी कारखाने के एक हिस्से में हो रहे डीज़ल के रिसाव को ठीक कर रहे थे.

घटना के कारणों का पता नहीं चल पाया है मगर विस्फोट इतना ज़ोरदार था कि आसपास के इलाक़ों में इसकी वजह से थर्राहट महसूस की गई.

घटना में कुछ लोगों के घायल भी होने की बात कही जा रही है मगर अभी तक इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है. इस कारखाने में इस्पात तैयार किया जाता है.

मजदूरों और प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि विस्फोट में बुरी तरह झुलस जाने के कारण सभी पाँचों कर्मचारियों ने घटना स्थल पर ही दम तोड़ दिया. घटना की खबर मिलते ही कारखाने के बाहर मजदूरों ने घेराव कर रखा है.इस देखते हुए बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों की भी तैनाती की गई है.

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने घटना पर दुख प्रकट किया है. मुख्यमंत्री सचिवालय से जारी एक बयान में कहा गया है कि रमन सिंह ने घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं. यात्री बस जलाई

इधर राज्य के दंतेवाड़ा इलाक़े से ख़बर आ रही है कि माओवादियों ने एक यात्री बस को आग के हवाले कर दिया है.

भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) अपनी जनमुक्ति छापामार सेना का स्थापना सप्ताह मना रही है और इसी दौरान संगठन ने यात्री वाहनों की आवाजाही पर रोक लगा रखी है. हालांकि पुलिस अभी इस मामले में कुछ नहीं बोल रही है, स्थानीय पत्रकारों का कहना है कि यह यात्री बस किरंदुल से हैदराबाद जा रही थी.

उनका कहना है कि सभी यात्रियों को उतारने के बाद माओवादियों नें बस में आग लगा दी.

संबंधित समाचार