वाराणसी में धमाका, इंडियन मुजाहिदीन का मेल

बनारस
Image caption धमाके के बाद दशाश्वमेध घाट का दृश्य

वाराणसी के दशाश्वमेध के पास शीतला घाट पर बम विस्फोट हुआ है. आरती शुरु होने से पहले यह धमाका हुआ है जिसमें क़रीब 20 लोग घायल हुए हैं और एक की मौत हुई है.

विस्फोट के कुछ समय बाद इंडियन मुजाहिदीन ने बीबीसी हिंदी सेवा के ईमेल आईडी पर एक मेल किया है जिसमें कहा गया है कि यह हमला छह दिसंबर से जुड़ा हुआ है.

ईमेल में कहा गया है अब कोई भी मंदिर सुरक्षित नहीं रहेगा.

पांच पन्नों के ईमेल में कहीं भी वाराणसी का ज़िक्र नहीं किया गया है. मेल में कई स्थानों पर बाबरी मस्जिद और इससे जुड़े कोर्ट के फ़ैसलों का ज़िक्र है और कोर्ट के फ़ैसले की आलोचना की गई है. ईमेल कहता है कि कोर्ट ने पक्षपातपूर्ण फ़ैसला दिया है.

ईमेल कहता है कि भारत में गुजरात और मुंबई दंगों के ज़िम्मेदार खुले घूम रहे हैं,

यह ईमेल बीबीसी समेत कई मीडिया संस्थानों के ईमेल पतों को भेजा गया है और भेजने वाले का ईमेल आईडी alfateh00005@gmail.com है.

पांच पन्नों के ईमेल के अंत में छह दिसंबर की तारीख है और हाथ से AL-ARBI लिखा गया है.

विस्फोट

पुलिस अधिकारियों ने अब एक मौत की पुष्टि कर दी है.

उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक करम वीर सिंह ने बीबीसी को बताया कि घायलों की संख्या बीस है जिसमें से एक घायल विदेशी महिला है. हालांकि ज़िला पुलिस का कहना है कि घायलों की संख्या अब 23 पहुंच गई है.

पुलिस अधिकारी का कहना था कि यह एक शक्तिशाली बम था. पुलिस ने राज्य भर में हाई अलर्ट घोषित कर दिया है और पुलिस महानिदेशक विशेष विमान से वाराणसी के लिए रवाना हो गए हैं.

केंद्रीय गृह सचिव जीके पिल्लै ने कहा है कि पूरे देश में अलर्ट घोषित कर दिया गया है.

स्थानीय पत्रकार के अनुसार एक छोटी बच्ची इस धमाके में मारी गई है.

प्रत्य़क्षदर्शियों ने बताया कि यह विस्फोट पानी की टंकी के पास हुआ जिसमें कई लोगों को लहूलुहान हो गए. पुलिस मौके पर है. प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार विस्फोट ज़ोरदार था और इसकी आवाज़ दूर तक सुनाई पड़ी.

आरती के समय बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे जिसमें विदेशी सैलानी भी शामिल हैं.

वाराणसी में शाम के समय घाटों पर गंगा आरती होती है और इस दौरान बड़ी संख्या में लोग वहां मौजूद होते हैं जिसमें पर्यटकों की संख्या भी बहुत होती है.