पाकिस्तान ने रोकी प्याज़ की खेप

प्याज़

भारत में प्याज़ की क़ीमतों में फिर बढ़ोत्तरी हो सकती है. ऐसा पाकिस्तान की ओर से भारत को सड़क मार्ग से प्याज़ भेजने पर लगाई गई पाबंदी के कारण हो सकता है.

पाकिस्तानी अधिकारियों का तर्क है कि लगातार भारत को प्याज़ भेजने के कारण उनके यहाँ प्याज़ की क़ीमतें बढ़ सकती हैं.

अधिकारियों ने वाघा सीमा पर प्याज़ लेकर भारत आ रहे 300 ट्रकों को रोक लिया. हालाँकि रेल मार्ग से प्याज़ भेजने पर रोक नहीं है, लेकिन इससे भारत पर असर पड़ने की आशंका है.

वाणिज्य और उद्योग मंत्री आनंद शर्मा ने कहा है कि वे पाकिस्तान के इस क़दम से चकित हैं. उन्होंने कहा कि सड़क मार्ग से प्याज़ भेजने पर रोक दुर्भाग्यपूर्ण है.

दुर्भाग्यपूर्ण

पत्रकारों से बातचीत में आनंद शर्मा ने कहा, "यह आश्चर्यचकित करने वाला और दुर्भाग्यपूर्ण क़दम है. हमने उनसे अपील की है कि जितने प्याज़ भेजने का अनुबंध हुआ था, उतना तो भेजा जाए. सरकार सभी विकल्पों पर विचार कर रही है."

उन्होंने कहा कि इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायुक्त के साथ भी विचार-विमर्श हुआ है और उच्चायुक्त ने पाकिस्तान के संबंधित अधिकारियों से मुलाक़ात भी की है.

भारत ने दिसंबर से अभी तक पाकिस्तान से छह हज़ार टन प्याज़ का आयात किया है. फसल ख़राब होने के कारण भारत में प्याज़ की क़ीमतों में रिकॉर्ड बढ़ोत्तरी हुई थी.

इसके बाद ही भारत ने पाकिस्तान से प्याज़ आयात करने का फ़ैसला किया था.

संबंधित समाचार