मछुआरे की हत्या पर भारत का कड़ा रुख

करुणानिधि
Image caption करुणानिधि ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखा है

श्रीलंकाई सैनिकों के हाथों एक मछुआरे के मारे जाने पर भारत ने कड़ा रुख अपनाते हुए कहा है कि इस तरह की कार्रवाई को सही नहीं ठहराया जा सकता.

बुधवार की रात तमिलनाडु में पुडुकोट्टई के जगतापट्टनम तट से मछली पकड़ने समुद्र में गए मछुआरों पर कथित रूप से श्रीलंकाई सैनिकों ने गोली चलाई.

इस गोलीबारी में 25 वर्षीय आर पांडियन नाम के मछुआरे की मौत हो गई. तमिलनाडु के अधिकारियों ने पांडियन के मौक़े पर ही मारे जाने की पुष्टि की है. पांडियन को सीने में गोली लगी थी.

कड़ी प्रतिक्रिया

भारतीय विदेश मंत्रालय ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है, '' कोलंबो स्थित हमारे उच्चायुक्त ने इस मामले को तुरंत श्रीलंका सरकार के सामने रखा. उच्चायुक्त ने इस मामले में भारत सरकार की चिंता और सवाल श्रीलंका सरकार के सामने रख दिए हैं. हमने इस बात पर ज़ोर दिया है इस तरह की गोलीबारी को सही नहीं ठहराया जा सकता और श्रीलंकाई सुरक्षाबलों को ये रास्ता नहीं अपनाना चाहिए.''

मंत्रालय ने कहा, ''भारत और श्रीलंका के बीच समुद्री इलाके में काम करने वाले मछुआरों की सुरक्षा भारत सरकार के बेहद अहम है. हम लगातार यह कहते रहे हैं कि श्रीलंका सरकार को इस तरह की गोलीबारी से बचना होगा. हम फिर उनसे कहते हैं कि वो इस तरह की कार्रवाई से बचें. ''

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम करुणानिधि ने इस मामले पर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को पत्र लिखकर कहा था कि इस घटना को श्रीलंका सरकार के साथ उठना चाहिए.

दावा

मछुआरों का दावा है कि वे भारतीय जल क्षेत्र में थे.

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम करुणानिधि ने इस घटना की कड़ी आलोचना करते हुए कार्रवाई के लिए प्रधानमंत्री को पत्र लिखा है.

करुणानिधि ने कार्रवाई की मांग करते हुए कहा है कि श्रीलंकाई सैनिकों की ओर से ऐसे क़दम कई बार उठाए जा चुके हैं और ये मामला श्रीलंका सरकार के साथ उठाए जाने की आवश्यकता है.

उप मुख्यमंत्री एके स्टालिन ने ये मामला तमिलनाडु विधानसभा में उठाया और सदस्यों को जानकारी दी कि मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर कार्रवाई की मांग की है.

दूसरी ओर विपक्षी अन्नाद्रमुक ने राज्य सरकार की आलोचना की है और कहा है कि ऐसी घटनाएँ होती रहती हैं और राज्य सरकार केंद्र को सिर्फ़ पत्र लिखती रहती है.

संबंधित समाचार