'लवासा प्रोजेक्ट अनाधिकृत'

लवासा
Image caption पर्यावरण मंत्रालय ने लवासा प्रोजेक्ट को अनाधिकृत क़रार दिया है.

भारत के केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय ने मंगलवार को कहा है कि महाराष्ट्र में पुणे के नज़दीक बन रहा लवासा हिल स्टेशन 'अनाधिकृत' है.

साथ ही मंत्रालय ने इसे बनाने वाली 'लवासा कंस्ट्रक्शन कंपनी' को निर्माण स्थल पर यथास्थिति बनाए रखने का आदेश दिया है.

मंत्रालय ने कहा है, "लवासा प्रोजेक्ट 'पर्यावरण प्रभाव मूल्यांकन' की अधिसूचना का उल्लंघन करता है. वहां निर्माण अनाधिकृत है और इससे पर्यावरण को नुकसान हुआ है."

हालांकि मंत्रालय ने ये भी कहा है कि जुर्माना लगाने,'पर्यावरण उत्थान फ़ंड' के गठन करने, 'विस्तृत पर्यावरणीय प्रभाव मूल्यांकन' करने और एक प्रबंधन योजना बनाए जाने के बाद वो लवासा प्रोजेक्ट पर विचार कर सकता है.

मंत्रालय ने अब से क्षेत्र में पर्यावरण को नुकसान होने से रोकने के लिए कड़े दिशा-निर्देश भी जारी किए हैं. साथ ही लवासा क्षेत्र में हुए पर्यावरण के नुकसान को एक तय सीमा के भीतर दुरुस्त करने का आदेश भी दिया है.

'गलतियां बढ़ा-चढ़ा कर पेश कीं'

मंत्रालय ने अपनी रिपोर्ट में महाराष्ट्र सरकार से पश्चिमी घाट संदेवनशील पर्यावरणीय स्थिति को देखते हुए अपनी 'हिल स्टेशन विकास नीति' का पुनरीक्षण करने को कहा है.

लवासा ने इस आदेश पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि पर्यावरण मंत्रालय का ये फ़ैसला पर्यावरण मुद्दों के बजाय अधिकार-क्षेत्र पर आधारित है.

लवासा ने कहा है कि मंत्रालय ने उसके द्वारा पर्यावरण सुरक्षा संबंधी जमा करवाए गए आंकड़ों को कोई वज़न नहीं दिया है.

कंपनी ने लवासा के दौरे पर गई मंत्रालय की टीम पर छोटी ग़लतियों को बढ़ा-चढ़ा कर पेश करने और पर्यावरण के लिए किए गए काम को नज़रअंदाज़ करने का आरोप लगाया है.

संबंधित समाचार