असीमानंद को एटीएस अजमेर लाई

फ़ाइल चित्र

राजस्थान में पुलिस की आतंकवाद विरोधी इकाई (एटीएस) स्वामी असीमानंद को गिरफ्तार कर अजमेर लेकर आई है.

एटीएस असीमानंद अजमेर दरगाह में तीन साल पहले हुए धमाकों के सिलसिले में पूछताछ कर रही है.

इस पूछताछ के निष्कर्षों के आधार पर एक हिन्दू संगठन के वरिष्ठ पदाधिकारी की भूमिका के बारे में जानकारी मिलने की संभावना है.

एटीएस के अधिकारी सत्येन्द्र सिंह रानावात ने बीबीसी को बताया कि अजमेर धमाके के मामले में असीमानंद से पूछताछ शुरू कर दी गई है.

असीमानंद अब तक भारत की राष्ट्रीय जांच एजेंसी की हिरासत में थे. ये एजेंसी उनसे हरियाणा में समझौता एक्सप्रेस में हुए विस्फोट के बारे में पूछताछ कर रही थी.

असीमानंद को शनिवार को जब अजमेर की अदालत में पेश किया गया तो उनकी ओर से कोई वकील हाज़िर नहीं हुआ.

लिहाज़ा उन्होंने अदालत से वकील उपलब्ध कराने की गुहार की. इससे पहले दरगाह ब्लास्ट मामले में गिरफ्तार एक हिन्दू संगठन से जुड़े पांच लोगों के लिए निजी वकील हाज़िर होते रहे हैं.

मगर असीमानंद के लिए ऐसा न होने पर लगता है असीमानंद उस समूह से अलग थलग पड़ गए हैं.