कड़ी सुरक्षा, तनाव के बीच गणतंत्र दिवस

गणतंत्र दिवस की तैयारी

कड़ी सुरक्षा और देश में कुछ जगह तनाव के बीच भारत में 62वां गणतंत्र दिवस मनाया जा रहा है. दिल्ली में अर्थसैनिक बलों समेत लगभग 35 हज़ार सुरक्षाकर्मी तैनात हैं और चौकसी बरतने के लिए चालक रहित विमान भी उपलब्ध कराए गए हैं.

उधर भारतीय जनता पार्टी की 'एकता यात्रा' के आहवान और श्रीनगर में तिरंगा फहराने की ज़िद्द के बाद भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेताओं - सुषमा स्वराज और अरुण जेटली समेत सैकड़ों कार्यकर्ताओं को जम्मू ज़िले में गिरफ़्तार कर लिया गया है.गिरफ़्तार करने के बाद उन नेताओं को कठुआ में एक होटल में रखा गया है.

भारत प्रशासित राज्य जम्मु-कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अबदुल्ला ने अरुण जेटली को गणतंत्र दिवस के आधिकारिक समारोह में शामिल होने की दावत दी है लेकिन भाजपा ने उनकी इस पेशकश को ठुकरा दिया है.

सुषमा स्वराज ने कहा कि भाजपा के जो भी कार्यकर्ता श्रीनगर में पहुँचे हैं वे तिरंगा फहराएँगे.

संसद चले, भ्रष्टाचार घटे: राष्ट्रपति

दिल्ली में राजघाट पर भूख हड़ताल पर बैठे भाजपा के पूर्व अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने आरोप लगाया कि भाजपा नेताओं को तिरंगा न फहराने देना अलगाववादियों को प्रोत्साहित करने के बराबर है.

बुधवार की सुबह राजनाथ सिंह ने अपनी भूख हड़्ताल ख़त्म कर दी.

बीबीसी के कोलकाता संवाददाता सुबीर भौमिक के अनुसार गणतंत्र दिवस की पूर्वसंध्या पर असम में हुए एक धमाके में एक पुल को नुक़सान पहुँचा और एक मालगाड़ी पटरी से उतर गई.

इस कारण असम की ब्रह्मपुत्र घाटी और बराक घाटी में और त्रिपुरा-मीज़ोरम के बीच रेल यातायात बाधित हुए है.

दिल्ली छावनी में तबदील

दिल्ली में अर्धसैनिक बलों और राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड के जवानों को सुरक्षा के लिए तैनात किया गया है. दिल्ली में जगह जगह पर पुलिस के नाके लगाए गए हैं और वाहनों को रोक-रोककर पूछताछ भी की जा रही है.

पद्म पुरस्कारों की घोषणा

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार बुधवार को भारतीय समयानुसार 11 बजकर 15 मिनट से लेकर 12 बजकर 15 मिनट तक दिल्ली के ऊपर किसी भी विमान के उड़ान भरने पर प्रतिबंध रहेगा.

Image caption परेड की सलामी राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल लेंगी

इस बीच गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान पारंपरिक वायुसेना के विमानों के अलावा चालक रहित विमान दिल्ली के ऊपर आसमान में उड़ान भर रहे हैं ताकि सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके.

सुरक्षा के लिए हथियार से लैस सुरक्षाकर्मियों की मोबाइल टीमें, एंटी-एयरक्रैफ़्ट गन्स और निशानेबाज़ जगह जगह पर तैनात हैं.

राष्ट्रीय राजधानी में राजपथ और लालक़िले के बीच अनेक जगहों पर लगभग सौ सीसीटीवी कैमरा लगाए गए हैं.

राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने तिरंगा फहराया और मार्च पास्ट के दौरान सलामी लीं. इस बार गणतंत्र दिवस के मौक़े पर इंडोनेशिया के राष्ट्रपति सुशीलो बामबांग युद्धोयोनो विशेष अतिथि हैं.

श्रीनगर में कड़ी सुरक्षा

भारत प्रशासित जम्मू-कश्मीर की राजधानी श्रीनगर में कड़ी सुरक्षा व्यवस्ता की गई है. विशेष तौर पर बख़्शी स्टेडियम के आसपास अनेक सुरक्षाकर्मी तैनात हैं जहाँ आधिकारिक कार्यक्रम होते हैं.

वर्ष 2005 में गणतंत्र दिवस के मौके पर चरमपंथियों ने बख़्शी स्टेडियम पर धमाके गिए थे.

भारत प्रशासित कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक शिव मुरारी सहाय ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स को बताया, "हाल में हुई घटनाओं को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है."

संबंधित समाचार