राजा की सीबीआई हिरासत बढ़ी

राजा इमेज कॉपीरइट AP

अदालत ने पूर्व दूरसंचार मंत्री ए राजा को दो दिन और सीबीआई की हिरासत में रखने का आदेश दिया है ताकि उनसे और पूछताछ की जा सके.

इससे पहले सीबीआई ने कहा था कि राजा ने टू जी स्पेक्ट्रम घोटाले में अपनी भूमिका के बारे में कोई उपयोगी जानकारी नहीं दी है.

अदालत ने पूर्व दूरसंचार सचिव सिद्धार्थ बेहुरा और राजा के पूर्व निजी सचिव आरके चंदोलिया को न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल भेज दिया है.

सीबीआई ने उनके बारे में कहा कि उन्हें ज्यादा समय तक हिरासत में रखे जाने की ज़रूरत नहीं है.

राजा अब 10 फ़रवरी तक सीबीआई की हिरासत में रहेंगे.

उल्लेखनीय है कि सीबीआई ने पूर्व केंद्रीय दूरसंचार मंत्री ए राजा को दो फ़रवरी को गिरफ़्तार किया गया था.

राजा पर आरोप

ए राजा पर 2008 से ही 2 जी स्पेक्ट्रम आवंटन मामले में घोटाले के आरोप लगते रहे हैं लेकिन सीएजी की रिपोर्ट आने के बाद उन पर इस्तीफे़ का दबाव बढ़ गया था.

आख़िरकार राजा को नवंबर, 2010 में इस्तीफ़ा देना पड़ा था.

इसके बाद भी राजा को गिरफ़्तार नहीं किया गया लेकिन उनके घर की तलाशी हुई और सीबीआई लगातार उनसे पूछताछ करती रही है.

राजा पर आरोप है कि उन्होंने 2जी स्पेक्ट्रम का आवंटन अपनी पसंदीदा कंपनियों को किया और इनमें से कई कंपनियों के पास स्पेक्ट्रम के उपयोग के लिए नेटवर्क ही नहीं था. इन कंपनियों ने बाद में स्पेक्ट्रम अधिक क़ीमत पर अन्य मोबाइल कंपनियों को बेच दिए.

उल्लेखनीय है कि राजा के मामले में सरकार और विपक्ष के बीच भी तनाव बना हुआ है और नवंबर के बाद संसद की कार्यवाही नहीं चल सकी है.

विपक्ष इस मामले में संयुक्त संसदीय समिति से जांच चाहता है जबकि कांग्रेस जेपीसी जांच के लिए तैयार नहीं है.

संबंधित समाचार