बुद्धदेब ने मानीं ग़लतियाँ

बुद्धदेब भट्टाचार्य
Image caption वाम मोर्चे की इस रैली को चुनावी बिगुल माना जा रहा है

पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री बुद्धदेब भट्टाचार्य ने स्वीकार किया है कि उनकी सरकार से ग़लतियाँ हुई हैं, लेकिन वे इसे सुधार रहे हैं.

कोलकाता में चुनावी बिगुल बजाते हुए उन्होंने तीन लाख लोगों से वाम मोर्चे की सरकार को फिर मौक़ा देने की अपील की.

रैली में अपने संबोधन के दौरान मुख्यमंत्री ने यह भी स्वीकार किया कि उनके कार्यकर्ताओं ने अहंकार दिखाया और उनमें सहनशीलता की कमी है.

मुख्यमंत्री बुद्धदेब भट्टाचार्य का ये बयान ऐसे समय आया है जब उनकी सरकार ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस से कड़ी चुनौती का सामना कर रही है.

आरोप

मुख्यमंत्री ने तृणमूल कांग्रेस को घेरने का भी मौक़ा नहीं छोड़ा. उन्होंने ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस पर आरोप लगाया है कि पार्टी की माओवादियों के साथ साँठ-गाँठ है.

Image caption बुद्धदेब ने ममता बनर्जी पर गंभीर आरोप लगाए

उन्होंने ममता बनर्जी पर आरोप लगाया कि वे अलग गोरखालैंड की मांग के मुद्दे पर ख़ामोश हैं, लेकिन वे पश्चिम बंगाल का विभाजन नहीं होने देंगे.

बुद्धदेब भट्टाचार्य ने औद्योगीकरण और ज़मीन अधिग्रहण का संवेदनशील मुद्दा भी उठाया और कहा कि वे उद्योग के पक्ष में हैं लेकिन वे तृणमूल कांग्रेस की ओर से खड़ी की गई मुश्किलों के ख़िलाफ़ हैं.

वाम मोर्चे की इस रैली को अपना दम दिखाने की कोशिश माना जा रहा है, ख़ासकर पिछले साल के निकाय चुनाव और वर्ष 2009 के लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद.

संबंधित समाचार