जोशी की हत्या की सीबीआई जाँच हो: गहलोत

Image caption गहलोत ने हिंदू संगठन के कार्यकर्ता स्वर्गीय सुनील जोशी की हत्या की सीबीआई जाँच की माँग की

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अजमेर धमाको में एक हिंदू संगठन के प्रमुख नेता के कथित तौर पर शामिल होने के आरोप पर कुछ भी कहने से इनकार कर दिया है.

लेकिन उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश की भाजपा सरकार को एक हिंदू संगठन के कार्यकर्ता स्वर्गीय सुनील जोशी की हत्या की जांच स्वत ही सीबीआई को सौंप देनी चाहिए.

दिवंगत जोशी की 29 दिसंबर, 2007 को मध्य प्रदेश के देवास में रहस्यमय हालात में हत्या कर दी गई थी.

राजस्थान एटीएस के मुताबिक सुनील जोशी अजमेर धमाकों के प्रमुख सूत्रधार थे और वो इन धमाकों के आरोप में गिरफ़्तार स्वामी असीमानंद के सतत संपर्क में थे. लेकिन स्व जोशी की हत्या की जांच तब तक आगे नहीं बढ़ी जब तक राजस्थान एटीएस ने कुछ लोगों को अजमेर धमाकों में गिरफ्तार नहीं कर लिया.

मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा स्व जोशी खुद हिंदू संगठन आरएसएस के सदस्य थे.

उनका कहना था, ''मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री स्वयं संघ परिवार से आते हैं, उन्हें आगे बढ़ कर इस हत्याकांड की जांच सीबीआई से करानी चाहिए ताकि सच सामने आ सके.''

गहलोत ने कहा आरएसएस नेता खुद कह चुके है कि कुछ अतिवादी लोग उनके संगठन में थे, उनको निकाला जा चुका है.

उलझी कहानी

आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार के कथित इस घटना में उलझाव के बारे में गहलोत ने कहा कि ये मामला अदालत में विचाराधीन है,लिहाजा वो कुछ कहना ठीक नहीं समझते .

Image caption अजमेर धमाकों को लेकर कई लोगों को गिरफ़्तार किया गया है

इस बीच पुलिस गुजरात के बलसाड से गिरफ़्तार भरत रतेश्वर से अजमेर धमाकों के सिलसिले में पूछताछ कर रही है.

वो असीमानंद और स्व जोशी दोनों के बराबर संपर्क में थे.

भरत ने अपने बयानों में कहा कि स्व जोशी की हत्या की ख़बर मिलते ही उसने असीमानंद को फ़ोन पर सूचना दी थी.

भरत ने बयान में कहा है कि असीमानंद इस खंबर को सुनकर बहुत विचलित हुए और एक आरएसएस के प्रमुख नेता का नाम लेकर कहा ये सब उनका काम है. राजस्थान पुलिस ने अजमेर धमाकों में लिप्त रहने के आरोप में जिन लोगों को गिरफ़्तार किया है उनमें गुजरात के मुकेश और हर्षद सोलंकी भी हैं.

हर्षद सोलंकी को हत्या से पहले देवास में आखिरी बार स्व जोशी के साथ देखा गया था. अब मध्य प्रदेश पुलिस हर्षद से स्व जोशी के कत्ल के बारे में पूछताछ कर रही है.

संबंधित समाचार