नीतीश सरकार के दूसरे कार्यकाल के सौ दिन

नीतीश कुमार
Image caption दूसरे कार्यकाल में सरकार भ्रष्टाचार को नियंत्रित करने के लिए क़दम उठा रही है.

बिहार में नीतीश सरकार के दूसरे कार्यकाल के सौ दिन शनिवार 5 मार्च को पूरे हो गये. इन बीते सौ दिनों में इस सरकार ने जो कुछ ख़ास फ़ैसले किये, उनमे बढ़ते भ्रष्टाचार पर नियंत्रण की कोशिशों वाले क़दम शामिल है.

मसलन अगले वित्तीय वर्ष से ' विधायक फंड ' की समाप्ति हो जाएगी और मंत्रियों के साथ- साथ विधायकों, सरकारी अधिकारियों और कर्मचारियों की संपत्तियों से जुड़े विवरण सार्वजनिक हो जाएंगे.

ये प्रक्रिया मामूली ना- नुकुर के साथ शुरू तो हो चुकी है लेकिन ' तू डाल- डाल, मैं पात- पात ' वाली तैयारी भी चल रही है. कहा जा रहा है कि चल और अचल संपत्ति के जो ब्यौरे सम्बंधित सरकारी वेबसाइट पर डाले जा रहे हैं, उनमे ' अवैध कमाई ' नहीं दिखाने की गुंजाइश भी निकाल ली गई है.

इस सिलसिले में जिस संपत्ति के ब्यौरे सार्वजनिक किए जा रहे हैं, उसके स्रोत ज़ाहिर करने की बाध्यता ना होना एक बड़ा सवाल बन गया है. पूछा जा रहा है कि आमदनी के ' अवैध स्रोत ' को बेनक़ाब किए बिना, भ्रष्टाचारी जमात ने जो क़ानूनी नक़ाब ओढा हुआ है वो कैसे हटेगा?

'विधायक फ़ंड'

संबंधित समाचार