शशाधर महतो की मुठभेड़ में मौत

Image caption माओवादियों ने अपना जाल भारत के लगभग एक-तिहाई हिस्से यानी 600 ज़िलों तक फैला रखा है.

पश्चिम बंगाल में सुरक्षाबलों के साथ हुई एक मुठभेड़ में माओवादी नेता शशधर महतो की मौत हो गई है.

पश्चिम बंगाल पुलिस के मुखिया नापराजित मुखर्जी ने बीबीसी को बताया कि पश्चिमी मिदनापुर ज़िले के चंदसोरी गांव में पुलिस के साथ हुई एक भीषण मुठभेड़ में महतो की मौत हो गई.

उन्होंने कहा, ''हमने इस बारे में पूरी जांच का है और अब हम पूरी तरह आश्वस्त हैं कि यह व्यक्ति शशधर महतो ही है. यह वाकई एक बड़ी सफलता है.''

माओवादी दस्ते का नेतृत्व

माना जाता है कि शशधर महतो हत्या के कम से कम 50 मामलों में लिप्त थे. यह भी माना जाता है कि उन्होंने पिछले साल 28 मई को हुई ज्ञानेश्वरी एक्सप्रेस रेल दुर्घटना की साज़िश रची थी.

इस दुर्घटना में लगभग 150 यात्रियों की मौत हो गई थी.

नापराजित मुखर्जी के अनुसार, ''शशधर महतो बंगाल के जंगल महल क्षेत्र में एक बड़े माओवादी दस्ते का नेतृत्व कर रहे थे. उनकी मौत से हमने राहत की सांस ली है.''

प्रधानमंत्री मंनमोहन सिंह ने माओवादियों को आंतरिक सुरक्षा के लिए सबसे बड़ा ख़तरा माना है.

माओवादियों ने अपना जाल भारत के लगभग 600 ज़िलों के एक-तिहाई हि्स्से तक फैला रखा है.

संबंधित समाचार