प्रधानमंत्री के ख़िलाफ़ विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव का नोटिस

सुषमा स्वराज
Image caption भाजपा के अनुसार प्रधानमंत्री ने सदन को गुमराह किया है.

भारतीय जनता पार्टी ने मंगलवार को लोकसभा में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के ख़िलाफ़ विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव नोटिस दिया. भाजपा का कहना है कि प्रधानमंत्री ने जुलाई 2008 में लाए गए विश्वास मत के बारे में सदन को गुमराह किया है.

लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार ने सदन को बताया कि ये नोटिस उनके पास आया है और वे इसपर विचार कर रही हैं.

मीरा कुमार ने कहा, "मुझे प्रधानमंत्री के ख़िलाफ़ 18 मार्च को दिए अपने बयान में सदन को कथित तौर पर गुमराह करने पर विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव का नोटिस मिला है. मैं नोटिस में उठाए गए मुद्दों का अध्ययन कर रही हूं. मैं फ़िलहाल इस विषय पर विचार कर रही हूं. "

सुषमा स्वराज ने प्रधानमंत्री के बयान पर नियम 193 के तहत बहस की मांग की. उन्होंने कहा कि फ़ाइनेंस बिल पर बहस से पहले इस विषय पर ढाई घंटे की बहस होनी चाहिए

लेकिन संसदीय कार्य मंत्री पवन कुमार बंसल ने कहा कि पहले फ़ाइनेंस बिल पर बहस कर उसे पास होने देना चाहिए.

संबंधित समाचार