भारतीय मीडिया में 'मुंबई मैटिनी' छाई

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में भारत और श्रीलंका की टीम आमने-सामने होगीं

मोहाली में खेले गए सेमी फ़ाइनल मैच में पाकिस्तान को करारी हार देने के बाद अब सभी की निगाहें दो अप्रैल को फ़ाइनल में श्रीलंका के साथ होने वाली भीड़ंत पर टिकी हुई हैं.

हिंदी अख़बार राष्ट्रीय सहारा ने मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में होने वाले फ़ाइनल मैच पर लिखा है, ''अब मुंबई के मैटनी शो पर टिकी है निगाहें.''

अख़बार लिखता है कि यह पहला मौक़ा है जब विश्व कप के फ़ाइनल में पहुंचने वाली टीमों की कमान विकेटकीपरों के हाथों में है.

अख़बार ने लिखा है कि भारत के तेज़ गेंदबाज़ आशीष नेहरा ऊंगली की चोट के कारण श्रीलंका के ख़िलाफ़ विश्न कप फ़ाइनल से बाहर हो सकते है.

हालांकि बीसीसीआई ने इस बारे में कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया है. साथ ही अख़बार ने छापा है कि फ़ाइनल मैच को देखने के लिए राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल और उनके श्रीलंकाई समकक्ष महिंदा राजपक्षे भी पहुंचने वाले है.

दैनिक जागरण ने कपिल देव के धोनी पर दिए गए बयान को तरज़ीह दी है.

'पांच जीवनदान, भगवान मोहरबान'

दैनिक जागरण ने ही सचिन तेंदुलकर के साक्षात्कार के अंश छापे हैं जिसमें उन्होंने कहा था,''पांच जीवनदान, भगवान मुझ पर मेहरबान था. यह कुछ ऐसा था, जो मेरे साथ पहले कभी नहीं हुआ. ''

अमर उजाला ने लिखा है कि फ़ाइनल मैच को देखते हुए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए है.

अंग्रेज़ी अख़बार इंडियन एक्सप्रेस ने लिखा है कि अब फ़ाइनल का मुक़ाबला होने में 48 घटें से भी कम समय रह गया है वहीं इस हफ़्ते में दूसरी बार आयोजकों और स्थानीय स्टाफ ने वानखेड़े स्टेडियम का जायज़ा लिया.

अख़बार ने हर्षा भोगले का लेख छापा है. इसमें हर्षा भोगले ने कहा है कि इस टूर्नामेंट में दो बेहरतरीन टीमें है जिसका नेतृत्व दो बेहरतरीन कप्तान कर रहे हैं जो इसे एक प्रमुख घटना बनाता है.वर्ल्ड कप ने 50 ओवर वाले इस खेल को नई जान दी है.

दर्शकों का बर्ताव

द हिंदू में विजय लोकपल्ली का लेख छपा है जिसमें कहा गया है कि अब तक पाकिस्तान और भारत में जो भी मैच होता था उससे तनाव साफ़ झलकता था. लेकिन अब स्थिति बदली है.

मोहाली में दर्शकों का बर्ताव स्वागत योग्य है.मोहाली के स्टेडियम में पाकिस्तान हाय हाय के नारे नहीं लगे और सीमा पार से जो भी दर्शक मैच देखने आए थे उन्हें घर जैसा माहौल दिया गया.

हिंदुस्तान टाइम्स लिखता है कि भारतीय टीम वर्ल्ड कप के गंतव्य स्थल बृहस्पतिवार को पहुंच गई है और उसे अभ्यास के लिए एक दिन ही मिलेगा. जबकि श्रीलंका की टीम जो बुधवार को ही पहुंच गई थी वो वानखेड़े स्टेडियम में अभयास कर चुकी है.

लेकिन अख़बार लिखता है कि ये भारत के सबसे प्रसिद्ध वेन्यु में से एक है और श्रीलंका खेल की स्थितियों को देखते हुए जागरूक होकर खेलना होगा.

संबंधित समाचार