बिहार में मुठभेड़, एक की मौत

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption बिहार में माओवादियों ने पंचायत चुनाव में हिस्सा लेने वालों को चेतावनी दी है

बिहार के गया ज़िले में पुलिस और माओवादियों के बीच मंगलवार को कई घंटे चली मुठभेड़ में पुलिस के एक जवान की मौत हो गई है.

ज़िले के कोठी थाना हल्क़े में हुई इस घटना में मंगलवार को दिन भर और देर रात तक रुक-रुक कर गोलियां चलती रहीं.

मुठभेड़ में केन्द्रीय रिज़र्व पुलिस फोर्स का एक जवान मारा गया.

मगध रेंज के पुलिस उपमहानिरीक्षक उमेश कुमार ने बुधवार सुबह बीबीसी को टेलीफोन पर बताया कि मुठभेड़ में पुलिस की गोलियों से कुछ माओवादी भी घायल हुए हैं.

उनके मुताबिक़ माओवादी दस्ते के लोग अपने घायल साथियों को लेकर जंगल में कहीं छिप गये हैं, जहाँ पुलिस का तलाशी अभियान जारी है.

उमेश कुमार ने ये भी बताया कि पंचायत चुनाव के सिलसिले में माओवादी संगठन की तरफ़ से जो धमकियाँ दी जा रही थीं, उसी के मद्देनज़र गया पुलिस की तरफ़ से डुमरिया प्रखंड के जंगल-पहाडी क्षेत्र में अभियान चल रहा था.

इस अभियान में केन्द्रीय रिज़र्व पुलिस सहयोग कर रही थी.

जिस इलाक़े में मुठभेड़ हुई, वहाँ अब अतिरिक्त पुलिस बल के साथ कई बड़े पुलिस-प्रशासनिक अधिकारी पहुँच चुके हैं.

गया और औरंगाबाद ज़िलों के ये क्षेत्र झारखंड की सीमा से लगे हुए हैं और वहाँ अक्सर पुलिस और मओवादियो के बीच मुठभेड़ होती रहती है.

इस बार पंचायत चुनाव के हिंसक विरोध पर उतरे माओवादियों की तरफ़ से पुलिस को इन्ही इलाक़ों में सबसे अधिक चुनौती मिल रही है.

संबंधित समाचार